मंत्री पुत्र ने धमकाया तो महिला कांस्टेबल ने उतार दी लू, कहा 'तुम्हारे बाप की नौकरी नहीं करते'



देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना काल में लोगों को इस महामारी से बचाने के लिए 2 गज की दूरी और मास्क लगाने की बात कहते हैं. लेकिन उन्हीं के गृह प्रवेश गुजरात में सूरत के वराछा में एक ऐसा मामला सामने आया है , जहां मास्क न पहनने पर जब एक महिला कांस्टेबल ने युवको को कोरोना पाठ पढ़ाना चाहा तो उसको लेने के देने पड़ गए.


आकाश नागर 

रात को 10 बजे के बाद नियमों के विपरीत मास्क न पहनने वाले लोग गुजरात के स्वास्थ्य मंत्री के पुत्र के समर्थक थे. उन्होंने मंत्री पुत्र को बुलाया तो मंत्री पुत्र कुमार कनानी ने महिला कांस्टेबल को वर्दी उतरवाने की धमकी दे डाली. यही नहीं बल्कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री कुमार कनानी के बेटे प्रकाश कनानी का यह कहते हुए वीडियो वायरल हुआ है कि वह तुम्हें 365 दिन तक यही तैनाती करा सकते हैं, साथ ही तुम्हारी वर्दी भी उतरवा सकते हैं.


हालांकि इस पर महिला कांस्टेबल भी नहीं डरी और उसने कहा कि वह कोई तुम्हारे बाप की नौकरी नहीं करते हैं. फिलहाल सोशल मीडिया पर गुजरात की इस महिला कॉन्स्टेबल सुनीता यादव की वीडियो वायरल हो रही है. साथ ही उसके साथ हुए अन्याय को सोशल मीडिया ट्विटर पर हैशटैग करके चलाया जा रहा है. सुनीता यादव को लोग लेडी सिंघम कहकर सोशल मीडिया पर चला रहे हैं.

फिलहाल बताया जा रहा है कि जब महिला कांस्टेबल ने मंत्री पुत्र के उदंड व्यवहार की शिकायत की तो उसे तुरंत उस स्थान से हट जाने को कह दिया गया. बाद में महिला कांस्टेबल ने इस बाबत जब उच्च अधिकारियों से शिकायत दर्ज की तो इस मामले पर कुछ नहीं हुआ. फिलहाल सुनने में आ रहा है कि गुजरात की इस महिला कांस्टेबल ने खिन्न होकर सरकारी नौकरी से इस्तीफा दे दिया है. दूसरी तरफ इस मामले में सरकार की किरकिरी होते देख सूरत के कमिश्नर द्वारा अब इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc