दो दोस्तों में बाकई 'ठन गई' या सिंधिया को कुछ दिन और संभाले रखने के लिए, 'कमलनाथ रिटर्न्स' का अंदेशा जो है




'ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे ..' जैसी बातें करने वाले शिवराज, कमलनाथ में अब 'ठन गई' है या यह भी 'हाथी के दांत 'जैसी बात है, यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा, क्योंकि जब कमलनाथ सरकार बनी थी, तब अब पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जोर-शोर से कहा था शिवराज सरकार के घोटालों की, व्यापम की जांच करायेंगे, जेल भेजेंगे, लेकिन 15 माह सरकार रही, कुछ हुआ? नहीं न.. फिर क्या यह सिंधिया जी को अभी कुछ दिन और संभाले रखने के लिए यह किया गया है. और फिर यह कैसे भूला जा सकता है कि अभी उपचुनाव सिर पर हैं, जिनके बारे में कहा जा सकता है कि 'कमलनाथ रिटर्न्स' का रास्ता खुला हुआ है. 



अब मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए कमलनाथ सरकार के आखिरी 6 महीने के दौरान लिए गए फैसलों की जांच के लिए ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स का गठन किया है. ग्रुप और मिनिस्टर्स 20 मार्च 2020 से 6 महीने पहले तक की अवधि में तत्कालीन कमलनाथ सरकार द्वारा लिए गए फैसलों की समीक्षा करेगा. मामले को लेकर कुछ इस प्रकार के चर्चाएँ भी हैं कि सिंधिया जी को अभी कुछ दिन और संभाले रखने के लिए यह किया गया है. और फिर यह कैसे भूला जा सकता है कि अभी उपचुनाव सिर पर हैं, जिनके बारे में कहा जा सकता है कि 'कमलनाथ रिटर्न्स' का रास्ता खुला हुआ है. 

देखने वाली बात यह है कि इस ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स के सदस्यों में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए तुलसी सिलावट भी शामिल हैं, जो खुद तत्कालीन कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री थे और उस वक्त की सरकार द्वारा लिए गए कई फैसलों में शामिल थे. ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, जल-संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट और कृषि मंत्री कमल पटेल शामिल हैं.


शिवराज के ये मंत्री समीक्षा के दौरान कथित भ्रष्टाचार की भी जांच करेंगे. कमलनाथ सरकार द्वारा आखिर के 6 महीने में लिए गए फैसलों की समीक्षा के बाद शिवराज सरकार जरूरत पड़ने पर उसे रद्द भी कर सकती है या फिर बदलाव कर सकती है. आपको बता दें कि कमलनाथ सरकार द्वारा मार्च में कई नियुक्तियां भी की गई थीं, जिसकी शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल से शिकायत भी की थी.
'ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे ..' जैसी बातें करने वाले शिवराज, कमलनाथ में बाकई 'ठन गई' है या यह भी 'हाथी के दांत' जैसी बात.. दिखा रही एक पिक्चर 

कांग्रेस ने किया शिवराज सरकार पर पलटवार, उठाए सवाल
मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कमलनाथ सरकार के आखिरी 6 माह के फैसलों की समीक्षा के लिए कोरोना के भीषण संकटकाल में शिवराज सरकार द्वारा गठित समिति पर सवाल उठाए हैं. कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस हर तरह की समीक्षा और जांच का स्वागत करती है, लेकिन अभी समय कोरोना से निपटने का है, राजनीति के लिए तो बहुत समय है.





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc