तुम्हीं ने दर्द दिया है तुम्हीं दवा देना, चायना से आएगीं कोरोना मेडिसिन, 3 अप्रैल से एअर इंडिया कारगो शुरू करेगा चीन की उड़ान


Material related to Corona will arrive from China from April 3 Air ...

जहां से बीमारी, वहीं से दवा, और हम चीन और चीनी समान का बहिष्कार करने की बात कर रहे हैं। पांच दिनों में कारगों विमान सेवाओं के जरिए देश के तमाम इलाकों में दवाएं सूट मास्क पहुंचाने के लिए विमानों ने कुल 62 उड़ानें भरी हैं।   

नई दिल्ली। कोरोना से जुड़ी आवश्यक सामग्री देश के कोने-कोने तक पहुंचाने के लिए विमानन मंत्रालय ने अधिकारियों तथा स्टेकहोल्डर्स के एक समूह का गठन किया है। समूह की देखरेख में एयर इंडिया, अलायंस एयर, वायुसेना के अलावा प्राइवेट एयरलाइनों की ओर से हब एंड स्पोक लाइफलाइन कारगो सेवाओं का संचालन किया जा रहा है।


चीन से कोरोना से जुड़ी सामग्री 3 अप्रैल से आएगी, एयर इंडिया ने शुरू किया कारगो एयरब्रिज
दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, बंगलूर, कोलकाता में हब जबकि गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, अगरतला, आइजवाल, इंफाल, कोयंबटूर तथा तिरुअदंतपुरम में स्पोक बनाए गए हैं। इस बीच एयर इंडिया ने चीन से कोरोना से जुड़ा सामान मंगाने के लिए एक कारगो एयरब्रिज शुरू किया है। इसके जरिए 3 अप्रैल से चीन के साथ नियमित उड़ानों के जरिए सामान लाया जाएगा। 

चीन में स्थिति सामान्य होने के चलते मेडिकल सामग्री मंगाई जा रही है
दरअसल 22 मार्च के बाद से ही जहां सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद थी वहीं चीन से कारगो भी संचालित नहीं था। अब जबकि चीन में स्थिति सामान्य होने लगी है तो यह फैसला लिया गया है कि वहां से मेडिकल सामग्री मंगाई जा सकती है।


देश के अंदर कोरोना सामानों की आवाजाही कारगों विमान सेवाओं के जरिए होगी
वहीं देश के अंदर अलग-अलग शहरों में सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए हब एंड स्पोक पद्धति में कुछ बड़े शहरों को पहिये की धुरी की तरह केंद्र, जबकि छोटे शहरों को तीलियों के छोर की भांति क्षेत्रीय खपत स्थलों के तौर पर चिह्नित करके सामानों की आवाजाही सुनिश्चित किया गया है।

देश के तमाम इलाकों में दवाएं, सूट, मास्क पहुंचाने के लिए विमानों ने भरी 62 उड़ानें
विमानन मंत्रालय के अनुसार पिछले पांच दिनों में कारगों विमान सेवाओं के जरिए देश के तमाम इलाकों में दवाएं, मेडिकल उपकरण, सूट, मास्क और सैनेटाइजर आदि पहुंचाने के लिए एयर इंडिया, अलांयस एयर, भारतीय वायुसेना, इंडिगो और स्पाइसजेट के विमानों ने कुल 62 उड़ानें भरी हैं। इसकी शुरुआत 26 मार्च को एयर इंडिया तथा स्पाइसजेट की ओर से की गई थी।
खबर जागरण से 



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc