फिर एक बेटी ने दी पिता को मुखाग्नि, लोगों की आँखें हुईं नम, पिता पर ही आश्रित था परिवार




सिहोरा/ नारायण मिश्रा / होरा से 10 किमी दूर गोसलपुर  में एक बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि देकर अंतिम संस्कार कर बेटे का फर्ज पूरा किया. गोसलपुर में आज शनिवार की सुबह रविन्द्र सिंह 52 वर्ष का हृदयगति रुकने से उनकी मृत्यु हो गयी, जिनकी दो बेटियां ही हैं, जिनमे एक की शादी हो गयी और छोटी बेटी अध्ययनरत है जिसने समाजिक कुरीतियों को न मानते हुए अपने पिता का अंतिम  संस्कार किया और लड़की होकर भी लड़के का फर्ज पूरा किया.


गोसलपुर रवींद्र सिंह राजपूत 52वर्ष की हृदयगति रुकने की वजह से मृत्यु हो गई. मृतक गोसलपुर के पास ही एक निजी खदान में मैनेजर था. मृतक की दो बेटियां हैं जिसमे बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है और छोटी बेटी महिमा 20 वर्ष कालेज में पढ़ाई कर रही है. जिसने पिता की मृत्यु के बाद बेटे की तरह सामने आई और पिता को मुखाग्नि देकर अंतिम संस्कार किया. पिता को मुखाग्नि देता देख लोगों की आंखे भी नम हो गई.

मां- बेटी बचे घर पर
रवींद्र राजपूत की मृत्यु होने के बाद परिवार में उनकी पत्नी उषा राजपूत और बेटी महिमा राजपूत ही बची हैं. इनके परिवार की आय सिर्फ पिता पर ही आश्रित थी, जबकि इनके परिवार में रविन्द्र सिंह की मृत्यु होने बाद कोई नही है जो परिवार का संचलन कर सके. 




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc