VIDEO नक़ल रोकने वाले शिक्षक खुले आम कर रहे नक़ल, हद ये कि फिर भी दुसरी बार पास नहीं हो रहे, क्या है समस्या की असली जड़?





कई शिक्षक रिटायर्मेंट के करीब हैं, लेकिन परीक्षा दे रहे हैं, पढ़ाने की, कि कैसे पढ़ायें, कि सभी बच्चे पास हो जाएँ, लेकिन छात्रों को नक़ल से रोकने वाले ये शिक्षक खुले आम नक़ल भी कर रहे हैं. और हद ये है कि फिर भी दुसरी बार पास नहीं हो रहे. 



प्रशांत अनजाना / 
डिजिटल इंडिया 18 न्यूज़ नेटवर्क 

सल में सरकार द्वारा 30 प्रतिशत रिजल्ट लाने वाले शिक्षकों की परीक्षा ली जा रही है कि क्या वे पढ़ाने के लायक हैं भी या नहीं. परीक्षा हुई कुछ फेल हो गए उनकी दोबारा परीक्षा ली गई, फेल न हों के लिए सुविधा के लिए पुस्तक से देख कर लिखने की छूट दी गई, लेकिन फिर भी सूत्रों कि मानें तो सैकड़ों शिक्षक फेल हो गए हैं. अब सरकार इनको बाहर निकालने की बात कर रही है. 




आज ऐसी ही परीक्षा के दौरान उज्जैन में प्रमुख सचिव स्कूली शिक्षा श्रीमती रश्मि शमी ने तो कह ही दिया 'नक़ल करके भी पास नहीं हो रहे शिक्षक' देखिये नक़ल कर रहे शिक्षकों का वीडियो - 



सबसे मजेदार बात यह निकल कर आई है कि इस सब के लिए कमियों में माना गया कि स्कूलों के निरीक्षण में छात्रों के सामने शिक्षकों को फटकार लगाना बड़ी कमी पाया गया, बैठक में निर्देश दिए गए हैं कि निरीक्षण में छात्रों के सामने शिक्षकों को फटकार न लगाई जाए. 

बड़े बड़े अफसर बनाने वाले इन शिक्षकों के ये हाल हैं तो देश की हालत का अंदाजा खुद ही लगा सकते हैं. हम समझते हैं यह सब गंदी राजनीति का परिणाम है, जो कहते हैं 'ट्रांसफर में पैसा लगता है, सस्पेंड ही करा लो'. या फिर रिश्वतखोरी को रोकने वाले जनता के बीच यह कह कर कि 'सब भ्रष्ट हैं', अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड ले रहे हैं. ऐसे में यही सब तो होगा न? और इस सबका दुष्परिणाम भोगने के लिए जनता तो है ही. 





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc