औद्योगिक कम्पनियाँ मानवीय आधार पर करें सीएसआर फण्ड का उपयोग



औद्योगिक कम्पनियां सीएसआर फण्ड का उपयोग मानवीय आधार पर पर्यावरण प्रदूषण से उत्पन्न होने वाली बीमारियों की रोकथाम में करें। हर महीने स्वास्थ्य शिविर लगाकर लोगों का मेडीकल चेकअप और दवाओं का वितरण कराया जाए। यह बात पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने आज सिंगरौली में औद्योगिक कम्पनियों के प्रतिनिधियों की बैठक में सी.एस.आर. फण्ड के उपयोग की समीक्षा करते हुए कही। 
- मुकेश मोदी

भोपाल / पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने आज सिंगरौली में औद्योगिक कम्पनियों के प्रतिनिधियों की बैठक में सी.एस.आर. फण्ड के उपयोग की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कम्पनियाँ पर्यावरण प्रदूषण से उत्पन्न होने वाली बीमारियों की रोकथाम के प्रयास करें। हर महीने स्वास्थ्य शिविर लगाकर लोगों का मेडीकल चेकअप और दवाओं का वितरण करायें। श्री वर्मा ने कहा कि फण्ड का उपयोग मानवीय आधार पर किया जाये। कौशल विकास केन्द्रों की स्थापना कर बेरोजगारों को उनकी रूचि के अनुसार प्रशिक्षण दिया जाये और रोजगार भी मुहैय्या कराया जाये। पर्यावरण मंत्री ने निर्देश दिये कि सभी कम्पनियाँ आपदा प्रबंधन की व्यवस्थाओं को हमेशा चुस्त-दुरुस्त रखें, जिससे किसी भी आकस्मिक दुर्घटना को तुरंत रोका जा सके।



कम्पनियों में 70 प्रतिशत स्थानीय लोगों को मिले रोजगार- मंत्री श्री पटेल
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि क्षेत्र की कम्पनियाँ राज्य सरकार की नीति के अनुसार 70 प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध करायें। विस्थापन नीति का शत-प्रतिशत पालन किया जाये। विस्थापितों एवं उनके बच्चों को समुचित प्रशिक्षण तथा रोजगार की निश्चित व्यवस्था की जाये।




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc