दोस्त के साथ मिल गई चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली क़ानून की छात्रा, घर जाने से किया इंकार

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती और उत्तर प्रदेश पुलिस की सक्रियता के चलते पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ वीडियो जारी कर आरोप लगाने के बाद गायब चल रही छात्रा शुक्रवार को राजस्थान में मिल गई है. यूपी पुलिस के मुताबिक छात्रा को उसके एक मित्र के साथ पकड़ा गया है. दुसरी ओर स्वामी चिन्मयानंद की ओर से उनके वकील ने एफआईआर दर्ज कराई है, जिसमें कहा गया है कि चिन्मयानंद सरस्वती को ब्लैक मेल किया जा रहा है. उनसे पांच करोड़ रुपये मांगे गए हैं. कहा गया है कि अगर पैसा नहीं मिलता तो छवि धूमिल की जाएगी....
जानिये पूरा सच -





आकाश नागर
कानून की गायब हुई छात्रा मामले में सुप्रीम कोर्ट की एक बैच ने उत्तर प्रदेश पुलिस से पूछा कि वह अदालत को बताएं कि लड़की आखिर है कहां. वह चाहें तो लड़की को अदालत में पेश कर सकते हैं. इस पर पुलिस ने न्यायालय से कहा कि कानून की पढ़ाई कर रही लड़की फिलहाल फतेहपुर सीकरी पहुंच चुकी है. पुलिस ने यह भी कहा कि वह लिखित ईमेल अधिकारियों को भेज सकते हैं और वे सुरक्षा के साथ फिर काम करेंगे.
यही नहीं पुलिस ने यह भी कहा कि वह दो-ढ़ाई घंटे में दिल्ली पहुंच जाएगा। लड़की के साथ जो लड़का है वह भी उसके साथ ही है. दोनों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी. इसके बाद आज शाम (शुक्रवार) पुलिस ने छात्रा को कोर्ट के समक्ष पेश किया.
दरअसल शाहजहांपुर जिले के एक निजी कॉलेज की इस कानून की पढ़ाई कर रही छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद पर छात्राओं के साथ शारीरिक शोषण का आरोप लगाते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था. आरोप लगाने वाली छात्रा बीते 24 अगस्त से गायब थी, जिसके बाद परिजनों की तहरीर पर और मीडिया में मामला आने के बाद स्वामी चिन्मयानंद पर एफआईआर दर्ज की गई.
लेकिन यूपी पुलिस से जुड़े सूत्रों की मानें को गायब छात्रा का किडनैप नहीं हुआ था. वह अपने दोस्त के साथ पहले दिल्ली गई. दोनों द्वारिका के होटल में भी देखे गए थे. फिर वह राजस्थान चले गए. पुलिस ने लोकेशन ट्रेस करते हुए दोनों को राजस्थान से पकड़ लिया.
दुसरी तरफ स्वामी चिन्मयानंद की ओर से उनके वकील ने एफआईआर दर्ज कराई गई है, जिसमें कहा गया है कि चिन्मयानंद सरस्वती को ब्लैक मेल किया जा रहा है. उनसे पांच करोड़ रुपये मांगे गए हैं. ये रकम स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती के व्हाटस एप नंबर पर मैसेज कर मांगी गई. इसी के साथ कहा गया था कि अगर पैसा नहीं मिलता तो छवि धूमिल की जाएगी. इसके बाद ही ये पूरा प्रकरण चर्चा में आया. पुलिस को शक है कि धमकी भरे मैसेज के पीछे छात्रा के दोस्त का हाथ हो सकता है. पुलिस फिलहाल दोनों से जांच करने की तैयारी कर रही है.
याद रहे कि बीते 24 अगस्त को छात्रा ने फेसबुक पर वीडियो पोस्ट किया था. वीडियो में छात्रा रो-रोकर सीएम और पीएम से मदद की गुहार लगा रही थी. साथ ही ये बताया कि आरोपी प्रबंधक धमकी देता है कि डीएम और सभी अधिकारी हमारी जेब में रहते हैं. इसलिए उसका कुछ नहीं हो सकता है. वीडियो में बताया कि संत बना हुआ प्रबंधक कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर चुका है उसके सारे एविडेंस हमारे पास हैं. उसकी जान को खतरा है, इसलिए वह सीएम और पीएम से मदद की गुहार लगा रही है.
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc