शर्मा जी आप जैसे ही पुलिस की जरूरत है, रिपोर्ट करने आई महिला को ऐसे दिलाई अत्याचार से मुक्ति





ऐसी हो जाए पुलिस तो कहना ही क्या. सही राम राज्य यही होगा. इन थाना प्रभारी ने इस तरह सुलझाई सामने आई महिला की समस्या..
 आशीष भाईराम 


मेहगांव थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने आई बरसा पत्नी मनोज जाटव उम्र 32 वर्ष निवासी सोनी मेहगांव बरसा जाटव सोनिया जिला मुरैना की रहने वाली हैं. उनकी ससुराल ग्राम पंचायत सोनी में है. 2014 में उनकी शादी मनोज के साथ हुई. एक बच्ची है 4 वर्ष की एक 1 वर्ष. 

पूर्व से ही उस घर में जेठानी के रूप में उसकी बड़ी बहन थी, लेकिन जेठ और जेठानी के कहने पर उसका पति उस पर हर रोज नए नए तरीके से अत्याचार करता. हद तो तब हो गई पिछले 6 महीने से उसकी मांग सूनी, उसका माथा सूना कर दिया गया, जब उससे अत्याचार सहा नहीं गया तब मेहगांव थाने में पहुंची और अपनी पूरी व्यथा थाना प्रभारी मनीष शर्मा को सुनाई.


पीछे से पति भी पहुँच गया. थाना प्रभारी ने पूरी बात सुन कर वर्षा को अपनी बहन बनाने का फैसला किया. थाने के पूरे स्टाफ और पत्रकारों के सामने राखी बंधवाई और टीका करवाया, साथ ही उसको बहन के रूप में मानकर दक्षिणा दी. उसके पति के द्वारा उसकी मांग भरबाई और माथे पर बिंदी लगवाई. परिवार का सारा खर्चा उठाने की जिम्मेदारी ली और उनकी बड़ी बहन जिठानी के रूप में और उसके पति को हिदायत दी कि आगे से कर हमारी बहन को कोई दिक्कत आई तो उसका भाई आगे खड़ा हुआ दिखाई देगा. 

जब पत्रकारों ने थाना प्रभारी से बात की तो उन्होंने बताया कि एक बरसा ही नहीं मेहगांव गांव की सभी लड़कियां, महिलाएं मेरी बहन हैं. उनकी सामाजिक सुरक्षा की मेरी गारंटी है. स्कूल जाते समय, कॉलेज जाते समय, घर में कोई समस्या है, परिवार में कुछ समस्या है, हमें अवगत कराएं हम अपनी बहनों के लिए सदैव खड़े मिलेंगे. 




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc