हद ही हो गई, रजिस्ट्री की कॉपी देने के बदले रिश्वत लेते धरा गया उप पंजीयक




हद ही हो गई. जमीन की रजिस्ट्री की कॉपी देने के बदले में कमीशन मांगने के आरोप में लोकायुक्त टीम सागर ने उप पंजीयक कार्यालय में उप पंजीयक प्रवीण कुमार जैन को 3 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है. ट्रेप होने के बाद उप पंजीयक का वीपी बढ़ जाने के कारण उन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज किया जा रहा है.


लोकायुक्त पुलिस सागर डीएसपी राजेश खेडे ने बताया कि शास्त्री वार्ड निवासी आवेदक एडवोकेट शैलेन्द्र दुबे पिता राम प्रकाश दुबे उम्र 36 वर्ष ने उप पंजीयक के द्वारा रजिस्ट्री देने एवं रजिस्ट्री करवाने के एवज में कमीशन के रूप में 3000 तीन हजार रुपए की रिश्वत की मांग की थी. आवेदक की शिकायत के बाद शुक्रवार को लोकायुक्त टीम बीना पहुंची और कार्र‌वाई की. 

टीम के पहुंचते ही आवेदक ने 3 हजार रूपए की रिश्वत उप पंजीयक को उनके कार्यालय में जाकर दी. रूपयों को उप पंजीयक ने लेकर अपने भृत्य को दे दिए, जिसके तत्काल बाद ही टीम ने उन्हें रंगे हाथों पकड़ लिया. लोकायुक्त टीम ने मुख्य आरोपी उप पंजीयक प्रवीण कुमार जैन एवं सह आरोपी भृत्य रामनिवास कुशवाहा के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम धारा 7 के तहत तहत कार्रवाई की है. 




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc