कलेक्टर के प्रयास से मानसिक विक्षिप्त महिला को मिला परिवार, बेटे को 2 साल बाद मिली मां


''कई बार जब कोई उनकी कुछ सुनता ही नहीं तो वह केवल विक्षिप्त बने हे रह जाते हैं, लेकिन इस मामले में कलेक्टर सिवनी की तारीफ़ करनी होगी कि उनके सद्प्रयासों से एक बेटे को 2 साल बाद अपनी मां मिल गई.'' 

कलेक्टर सिवनी श्री प्रवीण सिंह द्वारा 4 मई को जिला चिकित्सालय के निरीक्षण के दौरान मानसिक विक्षिप्त महिलाओं एवं पुरूषों के पुनर्वास एवं ईलाज हेतु निर्देशित किया गया था. सभी मानसिक विक्षिप्तों से लगातार चर्चा की गई एवं इन्हें ईलाज हेतु दवाईयॉ दी जा रही हैं. इसी तारतम्य में बातचीत के दौरान एक महिला ने अपना नाम सुरवती बाई तथा छिन्दवाड़ा जिले के ग्राम उरदान का निवासी बताया. 

जानकारी मिलने पर उरदान के सचिव श्री जगदीश प्रसाद के मोबाईल पर चर्चा की गई तो उन्होंने उनके पुत्र धनपाल के बारे में जानकारी दी. धनपाल को मोबाईल पर उसकी माँ के बारे में जानकारी दी गई, तो वह खुशी से फूले नहीं समाये और सहयोगियों के साथ गुरुवार 9 मई को सिवनी पहुँचकर लगभग दो वर्ष से जिला चिकित्सालय सिवनी में रह रही अपनी मॉ को लेकर चले गये. 

पुत्र धनपाल ने अपनी माँ के 2 साल बाद मिलने पर कलेक्टर सिवनी का आभार माना. जिला चिकित्सालय सिवनी में रह रहे शेष मानसिक विक्षिप्तों की जानकारी एकत्र की जाकर ईलाज तथा पुनर्वास की व्यवस्था की जा रही है. कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह के इस तरह के प्रयास की जम कर सराहना की जा रही है.  
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc