क्या गोखले और तिलक में अंतर नहीं जानते हरीश रावत?


गोखले और तिलक में अंतर नहीं जानते हरीश रावत? ऐसा तो हो नहीं सकता कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राष्ट्रीय महामंत्री हरीश रावत स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बाल गोपाल कृष्ण गोखले और गंगाधर तिलक में अंतर ही ना जानते हो। लेकिन आज जो उन्होंने ट्विटर और फेसबुक पर गलती की है, उससे लगता है कि उनका ट्विटर और फेसबुक कोई और हैंडल कर रहा है।




आकाश नागर 

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज (09 मई) स्वतंत्रता सेनानी बाल गोपाल कृष्ण गोखले की जयंती के मौके पर फेसबुक और ट्विटर हैंडल के जरिए श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर उन्होंने भले ही बाल कृष्ण गोखले को श्रद्धांजलि अर्पित की हो, लेकिन अपने इस ट्वीट पर उन्होंने गोपाल कृष्ण गोखले की जगह पर बाल गंगाधर तिलक की तस्वीर लगा दी है। उनकी इस चूक को सोशल मिडिया पर वायरल किया जा रहा है।

उन्होंने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा, "महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, शिक्षाविद, समाज सुधारक और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के राजनैतिक गुरु गोपाल कृष्ण गोखले जी की जयंती पर उन्हें शत शत नमन एवं विनम्र श्रद्धांजलि." इसके साथ बाल गंगाधर तिलक की तस्वीर लगा दी। इस तस्वीर को देखकर कई यूजर्स ने उनकी गलती को बताया तो कई यूजर्स ने उनका मजाक उड़ाया।

ट्विटर पर एक यूजर ने उनकी गलती बताते हुए लिखा, सर, ये आपने गलत फोटो लगा दी है। तो वहीं, एक यूजर ने रिट्वीट करते हुए लिखा, "सर उनको क्या फर्क पडता है तिलक हो या सरदार या नेताजी सिर्फ अगर नेहरू गांधी परिवार के नहीं तो कोई भी फोटो चलता है। 

"आश्चर्य की बात ये है कि फेसबुक और टविटर पर इस तस्वीर को  सुबह 11.17 बजे पोस्ट किया गया था, जिसे शाम 4.20 तक भी नहीं बदला गया? यानि अपनी इस गलती का सीएम हरीश रावत को लम्बे समय तक पता तक नहीं चल सका? हालांकि बाद में शाम को कुछ इस तरह उन्होंने तस्वीरों में बदलाव करके अपनी भूल सुधार कर ली।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc