ब्रेकिंग रतलाम, Deo रामेश्वर 15 हजार की दूसरी क़िस्त ले रहे थे, गिर गया विकेट



ब्रेकिंग रतलाम    



रतलाम लोकायुक्त द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है. DEO रामेश्वर चौहान को 15 हजार रिश्वत लेते उज्जैन लोकायुक्त ने पकड़ा. 




रामेश्वर चौहान ने स्कूल संचालक से 50 हज़ार मांगे थे. इनमें से 15 हज़ार की दूसरी क़िस्त ले रहे थे कि विकेट गिर गया. 


सोमवार दोपहर 2 बजे जिला शिक्षा अधिकारी रामेश्वर चौहान को 15 हजार रुपए रिश्वत लेते उनके ही चेम्बर में गिरफ्तार किया. शिकायत जांच में मान्यता रद्द करने की धमकी देकर वह बन्नाखेड़ा (जावरा) के निजी स्कूल संचालक से 50 हजार रुपए ले चुका था. 50 हजार रुपए और रिश्वत मांगी तो संचालक सुखदेव पांचाल ने 2 मई को लोकायुक्त एसपी से शिकायत की. 

लोकायुक्त ने 4 मई को रिकार्डिंग के लिए बातचीत करने पर 30 हजार रुपए में मामला तय हुआ. 6 मई को संचालक पांचाल ने सायर चबूतरा स्थित जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में 15 हजार रुपए दिए और बाहर आकर सिर पर बाया हाथ फेरकर इशारा किया. लोकायुक्त की टीम को देख डीईओ चौहान ने रुपए टेबल पर रख दिए. लोकायुक्त टीम ने पकड़कर हाथ धुलाए तो पानी लाल हो गया. 

बन्नाखेड़ा स्थित साईं पब्लिक हाईस्कूल के संचालक सुखदेव पांचाल ने बताया तीन साल पहले कुचड़ौद (मंदसौर) के निजी स्कूल में पढ़ने वाले काकरवाबालाजी (मंदसौर) निवासी तीन बच्चों निर्मल को सातवीं, निकिता को पांचवीं तथा नरेंद्र को चौथी कक्षा में बन्नाखेड़ा स्थित स्कूल में एडमिशन दिया था. बच्चों के परिजन ने स्कूल फीस नहीं भरी, इसलिए कुचड़ौद के स्कूल संचालक प्रकाश जैन ने बच्चों की टीसी नहीं दी. अभिभावकों ने शिकायत मंदसौर डीईओ से की. 

इस घटना के बाद कलेक्टर सुन्द्रियाल ने उन्हें डीईओ पद से हटा दिया था 
जानकारी के अनुसार अगस्त-2017 को चौहान को प्रभारी डीईओ पदस्थ किया था. दिसंबर-2017 में शिक्षा समिति अध्यक्ष डी.पी. धाकड़ ने उत्कृष्ट विद्यालय में जिपं सीईओ के खिलाफ टिप्पणी की थी. उपस्थित कुछ प्राचार्यों ने ताली बजाई थी. तत्कालीन कलेक्टर तन्वी सुन्द्रियाल ने डीईओ चौहान को पद से हटाकर डाइट पिपलौदा का प्राचार्य बना दिया था. 




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc