सैनिक की मेहनत पर फिर गया पानी, 'बनारस' का तो 'रस' ही निचोड़ दिया


वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे सपा उम्मीदवार तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द कर एक प्रकार से चुनाव आयोग ने 'बनारस' का तो सारा 'रस' ही निचोड़ दिया है. तेज बहादुर 'सन्न' रह गए. एक झटके में एक सैनिक की सारी मेहनत पर पानी फेर दिया गया. 

नामांकन रद्द होने के बाद तेज बहादुर यादव ने कहा कि चुनाव आयोग से मैंने कहा था कि मैं अंबानी नहीं हूं कि इतने कम समय में सूचना ले आउंगा. तेज बहादुर यादव ने कहा कि कल शाम 6.15 बजे चुनाव आयोग ने साक्ष्य देने को कहा था. हमने साक्ष्य तैयार कर लिए फिर भी मेरा नामांकन खारिज कर दिया गया. पर्चा गैरकानूनी तरीके से निरस्त किया गया है. यह जानबूझकर साजिश रची गई है.

तेज बहादुर यादव ने इसे तानाशाही बताते हुए कहा है कि वह सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे, लेकिन यह सब अब बाद की बात है. फिलहाल तो 'बनारस' को लेकर जनता में विशेष रूचि, जो एक चाव बन गया था, उसका 'रस' ही निचोड़ दिया गया है. 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc