राहुल के खिलाफ राफेल पर 5000 करोड़ का मानहानि केस अनिल अंबानी ने वापिस लिया, EXIT POLL में BJP की बढ़त के बाद क्या हैं इसके मायने


''राफेल सौदेबाजी पर दिए गए बयानों के चलते कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ दर्ज 5000 करोड़ के मानहानि केस को रिलायंस समूह अध्यक्ष अनिल अंबानी ने वापस लेने का फैसला किया है। ''

अहमदाबाद, जेएनएन। रिलायंस समूह के वकील राजेश परीख ने बताया कि सिटी सि‍विल व सेशन जज पीजे तमाकुवाला ने इस मामले की सुनवाई की थी। बचाव पक्ष को भी हमने इसकी सूचना दे दी है कि अब यह मामला वापस ले रहे हैं।

अधिवक्ता पीएस चांपानेरी ने बताया है कि रिलायंस समूह के वकील ने केस वापस लेने की बात कही है। ग्रीष्म अवकाश के बाद इस मामले की सभी औपचारिकताएं पूरी की जाएगी। अनिल अंबानी के रिलायंस समूह की सहयोगी कंपनियां रिलायंस डिफेंस, रिलायंस इन्फ्रा स्ट्रधक्चमर व रिलायंस एयरोस्ट्राक्चिर की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, कांग्रेस नेता ओमान चांडी, अशोक चव्हाण, वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी, संजय निरुपम व शक्ती सिंह गोहिल सहित कुछ पत्रकार व नेशनल हेराल्ड मीडिया समूह के संपादक जफर आगा। विश्व दीपक के खिलाफ आपराधिक व सिविल मानहानि का 5000 करोड का मुकदमा दर्ज कराया था।

रिलायंस व अनिल अंबानी के राफेल सौदे को लेकर राहुल ने आरोप लगाया था कि राफेल सौदे के दस दिन पहले रिलायंस डिफेंस को बनाया गया। कंपनी को फाइटर जेट बनाने का कोई अनुभव नहीं है। इसके बावजूद उन्होंने इसका कॉन्ट्रैक्ट मिला। उनको बदनाम करने वाले बयान को लेकर यह मुकदमा दर्ज कराया गया। रिलायंस का मानना है कि नेशनल हेराल्ड में प्रकाशित इस आशय की खबर से कंपनी की बदनामी हुई। साथ ही, एक नकारात्मक छवि बनाई गई।  

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc