क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हार का डर सताने लगा है? आखिर क्यों कर रहे हैं 'आलू से सोना जैसी गलत बात'


क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हार का अहसास हो गया है? क्या अब उन्हें हार का डर सताने लगा है, जो कि आलू से सोना की बात करने लगे हैं? यह बात उनके ताजा बयानों को लेकर कही जा रही है. 

असल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल ही नामांकन के समय अपने कार्यकर्ताओं को कहा था ‘कुछ लोग ऐसा माहौल बनाने में लगे हैं कि मोदी जी तो जीत गये, इसलिए वोट नहीं करोगे तो चलेगा. कृपा करके ऐसे लोगों की बात में मत आइये. ऐसा कुछ नहीं है..’ इसी के साथ आज उन्होंने कन्नौज में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कथित बयान मशीन से आलू से सोना बनाने की बात पर निशाना साधा, जबकि कई फैक्ट चेकिंग वेबसाइट्स यह बता चुकीं हैं कि राहुल ने कहा कुछ था और उसे गलत संदर्भ के साथ पेश किया गया. 

दरअसल राहुल गांधी ने दो साल पहले गुजरात के पाटन में आयोजित रैली में कहा था, "आलू के किसानों को कहा कि ऐसी मशीन लगाउंगा कि इस साइड से आलू घुसेगा उस साइड से सोना निकलेगा. इस साइड से आलू डालो, उस साइड से सोना निकालो. इतना पैसा बनेगा कि आपको पता नहीं होगा कि क्या करना है पैसे का. ये मेरे शब्द नहीं है, नरेंद्र मोदी जी के शब्द हैं."

कन्नौज की रैली में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में ऐसे बुद्धिमान और तेजस्वी लोग हैं जो आलू से सोना बनाते हैं. वो काम हम नहीं कर सकते, न मेरी पार्टी कर सकती. जिसको आलू से सोना बनाना है वो उनके पास जाये, हम ऐसा नहीं कर सकते. 

उन्होंने कहा कि हमारे देश के वीर शहीदों ने तिरंगे झंडे को लेकर आजादी की लड़ाई लड़ी थी. वो स्वराज के लिए लड़े थे, अब हमें सुराज के लिए लड़ना है. हम तब संकटों से निकलना चाहते थे और अब हम समृद्धियों की ऊंचाइयों को छूना चाहते हैं. तिरंगा ही हमारी प्रेरणा है. नया हिंदुस्तान अब डरेगा नहीं. नया हिंदुस्तान आतंकियों के घर में घुसकर मारेगा. जब देश सुरक्षित होगा तभी सामान्य मानवी का जीवन सही से चलेगा. 

अब लोग इन बयानों को लेकर सवाल उठा रहे हैं कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हार का अहसास हो गया है? क्या अब उन्हें हार का डर सताने लगा है, जो कि आलू से सोना की बात करने लगे हैं? 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc