मोदी ने कहा 'राहुल अपने पिता के पाप धो रहे हैं', लोग बोले 'और आप अम्बानी के..??'



''प्रधानमन्त्री मोदी ने राहुल पर अब तक का सबसे बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि  पूर्व प्रधानमन्त्री राजीव गांधी ने बोफोर्स घोटाला किया था, और अब राहुल गांधी झूंठ बोलकर अपने पिता के पाप धो रहे हैं. इसके बाद खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. प्रधानमन्त्री पद की गरिमा को लेकर बातें की जा रही हैं. लिखा जा रहा है 'और तुम अनिल अंबानी के कर्ज धो रहे हो.''



कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा राफेल डील मामले में प्रधानमन्त्री मोदी पर लगातार किये जा रहे हमले के बाद आज शनिवार को प्रधानमन्त्री मोदी ने राहुल पर अब तक का सबसे बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि  पूर्व प्रधानमन्त्री राजीव गांधी ने बोफोर्स घोटाला किया था, और अब राहुल गांधी झूंठ बोलकर अपने पिता के पाप धो रहे हैं. 

खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. प्रधानमन्त्री मोदी के इस बयान के बाद प्रधानमन्त्री पद की गरिमा को लेकर बातें की जा रही हैं. लिखा जा रहा है 'अब राहुल कब तक धैर्य न खोये?' 

एक सोशल मीडिया यूजर श्री रवि सक्सेना जी ने टिप्पणी की है कि 'तुम तो अनिल अंबानी के कर्ज धो रहे हो, फेंकू जी. यदि बाफोर्स में कुछ घपला था तो अटल और तुम्हारी सरकार क्या चुड़ी पहनकर बैठी थी! राफेल का चोर, मचाये शोर!!'

देखिये कुछ और प्रतिक्रियायें श्री भूपेन्द्र गुप्ता अगम जी की पोस्ट से  - 
श्री शैलेन्द्र कुमार त्रिवेदी जी लिखते हैं - 'उच्च पदों पर बैठा कोई व्यक्ति कैसे ऐसी भाषा बोल सकता है? 
लगता है बौरा गये हैं, इन्हे तो राफ़ेल वाले सेठ की क़सम खाते हुये ये बोलना चाहिये कि "हम सरेआम पाप कर रहे है !"

श्री Veerendra Meena  जी लिखते हैं - 'गिरे हुआ इंसान किसी के बाप पर पहुंच सकता है.'

श्री Sudhir Gurha जी लिखते हैं - 'दामोदर दास मोदी ने आत्महत्या क्यो की ये देश जानना चाह रहा है.'

श्री  Guru Sharan Sachdev जी लिखते हैं - 'अब सुषमा जी क्या उन्हें भी मर्यादित रहने की सलाह देंगी?

 
श्री Rajendra Raghuwanshi जी लिखते हैं - 'भाषा से आदमी के संस्कार का पता चलता है कि बह किस योग्य हैं अब समझ लो की देश का प्रधान मंत्री बोल रहा है या गॉव का चौकीदार...'
 
श्री Akash Agrawal जी लिखते हैं - 'आदरणीय प्रधानमंत्री जी को अपने शब्दों को बहुत जांच परख कर जनता के सामने रखना चाहिए यह बहुत ही निंदनीय एवं शर्मसार करने वाला भाषण आदरणीय प्रधानमंत्री जी द्वारा है और अगर प्रधानमंत्री भारतीय जनता पार्टी राहुल गांधी को कुछ नहीं समझते ध्यान से डरते नहीं है तो फिर इस प्रकार की भाषा करने का क्या मतलब आप पूरे भारत को प्रदर्शित करते हैं भारत की सभ्यता बहुत जगह बखान करते हैं और आप भारत में ही अपने विपक्षी दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष के बारे में प्रकार की बातें पूर्व प्रधानमंत्री के बारे में प्रकार की बातें जो भी नहीं है.'
 
श्री Rajendra Raghuwanshi जी लिखते हैं - 'भगवान राम को ठगा मंदिर के नाम पर.. मॉ गंगा को ठगा सफाई के नाम पर... गाय माता को ठगा हिंदू के नाम पर अब देश को ठगने की योजना है राष्ट्रवाद के नाम पर.'
 
 Feroz Siddiqui जी लिखते हैं - 'शर्मनाक है, किसी भी स्वर्गवासी के लिए इस तरह के शब्द बेहद निंदनीय हैं. राजीव जी अब नहीं हैं. इतनी समझ तो सबको होती है.'




श्री Ravindra Dave जी लिखते हैं - 'कम से कम श्रवण तो निकला फेकूजी जी जैसे माँ को लाइन में खड़ा नही किया.'

Feroz Siddiqui जी लिखते हैं - 'कब तक और कितना झूठ बोलोगे चौकीदार साहब'


श्री Ravi Saxena जी लिखते हैं - 'तुम तो अनिल अंबानी के कर्ज धो रहे हो फेंकू जी. यदि बाफोर्स में कुछ घपला था तो अटल और तुम्हारी सरकार क्या चुड़ी पहनकर बैठी थी ! राफेल का चोर मचाये शोर !!'

श्री Sudhir Gurha जी लिखते हैं - 'जब राहुल जी जोर जोर से कह रहे है कि चौकीदार ही चोर है तो बात बात पर मानहानि करने वाली भाजपा चुप क्यो है?'



श्री Jerry Paul जी लिखते हैं - 'इन के दिन पूरे हो गए इसलिए सठिया गए हैं.'

लोग इस प्रकार के फोटो भी मामले से जोड़ कर शेयर कर रहे हैं
श्री Prashant Singh Hazari जी लिखते हैं - 'यह स्वच्छ राजनीति तो कतई नहीं है,लड़ाई का निम्न स्तर ही कहा जाएगा, देश का जन मानस इस बात को जानता है कि आप इन 5 सालों में कालाधन किनके पास था उनकी लिस्ट होने के बाद उजागर नहीं कर सके,1/- के 2डॉलर नहीं विकवा पाए,सिरों का हिसाब नहीं कितने ले आए जुमला था एक के बदले दस,समझने में समय लगा कांग्रेस के शासन में यदि अपने एक सैनिक का सिर आता था तो उसके बदले अपने ही दस लाएंगे,सारे अपने बुजुर्ग नेताओं का मान मर्दन कर दिया,आज तक के इतिहास में इतने वरिष्ठ बीजेपी नेता कांग्रेस में शामिल नहीं हुए जितने इन 5सालों में,राफेल के रेट बताने तैयार नहीं है,जांच होने का लफड़ा सिर पर है,शाह के लड़के ने कैसे बनाए 50000 से 20000गुना इस पर research होना चाहिए ताकि गरीबी दूर हो.'



श्री Pradeep Pandey जी लिखते हैं - 'बदतमीज है ! शब्दों का प्रयोग नहीं आता.'

श्री Hakim Singh Raghuvanshi जी लिखते हैं - 'मोदी आजादी की लडाई मैं गददारो की RSS पार्टी से जुडे जो महात्मा गांधी की हत्या में शामिल थे बह पाप घोने की एवं छिपाने की कोशिश कर रहे हैं झूठ फैलाने. दंगे कराने. निंदा नफरत फैलाने के अलावा भाजपा RSS ओर उसके नालायक शिष्य मोदी अमित शाह को कुछ भी नहीं आता कोई योगदान नहीं कोई त्याग नहीं देश कै लिए दुष्ट पाखन्डी हैं इन्हें हराना. जरूरी है..'

श्री Rajendra Choubey जी लिखते हैं - 'तेरा भी पाप का घड़ा भर गया जो 23 मई को देश के मतदाता फोड़ेंगे....





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc