बीजेपी मतलब सिर्फ मोदी, क्या पार्टी अब 'वन मेन शो' है?



''जैसे कि आरोप लगते रहे हैं, बीजेपी के अपने लोग ही यह आरोप लगाते रहे हैं कि बीजेपी 'वन मेन शो' बन कर रह गई है. अब यही बात बीजेपी का 2019 घोषणापत्र के कवर से भी सामने आ रही है.'' 



हाल में कांग्रेस में शमिल होते वक्त शत्रुघ्न सिन्हा ने बयान दिया था कि बीजेपी अब 'वन मैन शो' और '2 मैन आर्मी' वाली पार्टी बन गई है. 2019 लोकसभा चुनाव के लिए जारी हुए बीजेपी के मेनिफेस्टो में वही बात खुलकर सामने आ गई है.

2014 और 2019 के घोषणापत्र के कवर को देखें तो बीजेपी अब बदल गई है बीजेपी मतलब मोदी रह गया है. 2014 में घोषणापत्र कवर पर 11 नेता थे. इनमें से अटल बिहारी वाजपेयी और मनोहर पर्रिकर अब दुनिया में नहीं हैं. आडवाणी और मुरली मनोहन जोशी को टिकट नहीं मिला है. वसुंधरा राजे, शिवराज सिंह चौहान और रमन सिंह मुख्यमंत्री नहीं हैं. सुषमा स्वराज और अरुण जेटली चुनाव नहीं लड़ रहे हैं. राजनाथ सिंह चुनाव लड़ रहे हैं मगर उनकी तस्वीर नहीं है. 2019 के घोषणा पत्र के कवर पर सिर्फ मोदी हैं. 

बीजेपी इस बात पर गर्व करती थी कि उसके पास नेताओं की भरमार है, मगर अब सिर्फ मोदी ही मोदी हैं. कवर के पीछे तीन तस्वीर हैं, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, दीनदयाल उपाध्याय और अटल बिहारी वाजपेयी. इनमें भी संस्थापक सदस्य आडवाणी नहीं हैं. इससे उनकी उपेक्षा और बीजेपी के अपने ही लोगों द्वारा पार्टी को 'वन मेन शो' कहने वालों को बल मिला है. 




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc