'श्राप' का जवाब 'शत्रु शमन' मिर्ची हवन, मुद्दों से हटके टोटकों पर चुनाव





भोपाल लोकसभा चुनाव भगवा बनाम भगवा होता जा रहा है। पूरे चुनाव में विकास के मुद्दे पीछे छूट रहे हैं और धार्मिक भावनाओं और टोटकों का दौर शुरू हो गया है। संघ और भाजपा ने भगवा व धारी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को उम्मीदवार बनाया तो पिछले तीन दिन से भोपाल की सड़कों पर कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के पक्ष में भगवा साधु दिखाई देने लगे हैं। 




रवीन्द्र जैन
साध्वी ने टिकट मिलते ही बयान दिया था कि उनके श्राप से ही शहीद हेमन्त करकरे की मौत हुई थी। अब दिग्विजय सिंह के पक्ष में उतरे महामंडलेश्वर वैराग्य नंद महाराज ने दिग्विजय सिंह की जीत के लिए पांच क्विंटल मिर्ची से हवन करने की घोषणा कर दी है। मिर्ची हवन शत्रु के शमन और अप्रत्यक्ष आत्माओं की मुक्ति के लिए किया जाता है। वैराग्य नंद ने तो यहां तक कह दिया है कि यदि दिग्विजय सिंह भोपाल से चुनाव हारे तो वे हवन स्थल पर ही समाधि ले लेंगे।





भोपाल के लोकसभा चुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है। यहां विकास के मुद्दे पीछे छूटते जा रहे हैं। भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर ने पहले दिन से ही अपना चुनावी मुद्दा स्वयं के ऊपर हुए जुल्म को बनाया है। उनका साफ कहना है कि वे दिग्विजय सिंह को सबक सिखाने मैदान में है,क्योंकि दिग्विजय सिंह ने भगवा आतंक जैसे शब्द का उपयोग कर उन्हें और संघ को बदनाम किया था। उम्मीदवारी के दस दिन बीतने के बाद भी प्रज्ञा ठाकुर भोपाल विकास को लेकर एक शब्द नहीं बोली हैं। 

दूसरी ओर दिग्विजय सिंह पिछले 40 दिन से अपना पूरा प्रचार भोपाल के विकास को आगे रखकर कर रहे थे। लेकिन अब पिछले तीन दिन से उनका प्रचार भगवा बनाम भगवा दिखने लगा है। दिग्विजय सिंह के पक्ष में तमाम साधु खुलकर मैदान में आने लगे हैं। कम्प्यूटर बाबा के बाद रामजन्म भूमि आंदोलन के प्रवक्ता आचार्य देव मुरारी बापू मैदान में उतरे और उन्होंने प्रज्ञा ठाकुर के बयानों की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह असली हिन्दू हैं और पूरा संत समाज उनके साथ खड़ा है।

मिर्ची हवन         
सोमवार को खबर आई कि महामंडलेश्वर वैराग्य नंद महाराज दिग्विजय सिंह के चुनाव कार्यालय में पत्रकारों से रूबरू होंगे। बाद में वे भोपाल के पलाश होटल में प्रकट हुए और उन्होंने दावा किया कि दिग्विजय सिंह के पक्ष में भोपाल की सड़कों पर 20 हजार साधु घर-घर जाकर वोट मांगेंगे। वैराग्य नंद ने कहा कि 5 मई को वे भोपाल में दिग्विजय सिंह की जीत के लिए पांच क्विंटल लाल मिर्ची से हवन करेंगे। इस हवन के बाद दिग्विजय सिंह को कोई हरा नहीं सकता। 

उन्होंने दावा किया कि यदि दिग्विजय सिंह हारे तो वे समाधि ले लेंगे। हमने मिर्ची हवन के बारे में जानकारी एकत्रित की तो पता चला कि यह हवन मां भगवती बगलामुखी को खुश करने के लिए किया जाता है। इससे अप्रत्यक्ष आत्माओं को मुक्ति और शत्रु का शमन होता है। इस हवन को विशेष परिस्थिति में ही किया जाता है।


भोपाल से पत्रकार रविन्द्र जैन की फेसबुक वाल से साभार


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc