अगस्ता हेलिकॉप्टर घोटाला, खरीदी बगैर 325 करोड़ से ज्यादा की रिश्वत बंटी, मिशेल के खिलाफ पूरक आरोप पत्र दायर


''प्रवर्तन निदेशालय ED ने गुरुवार को अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में आरोपी क्रिश्चियन मिशेल के खिलाफ पूरक आरोप पत्र दायर किया। ED ने पटियाला हाउस कोर्ट की विशेष अदालत में तीन हजार पन्नों का पूरक आरोप पत्र दायर किया है, जिसमें दावा किया गया है कि पूरे प्रकरण में 325 करोड़ रुपये से ज्यादा की रिश्वत आरोपियों में बंटी।''

इसमें मिशेल के पार्टनर डेविड सिम्स और उसकी कंपनियों ग्लोबल ट्रेड, ग्लोबल सर्विस को भी नामजद किया गया है। स्पेशल कोर्ट के जज अरविंद कुमार ने कहा कि पूरक आरोप पत्र पर संज्ञान लेने और आरोपियों को समन जारी करने पर फैसला 6 अप्रैल को लिया जाएगा।

ED ने जब जून 2016 में क्रिश्चियन मिशेल के खिलाफ पहला आरोपपत्र दाखिल किया था तब उसकी ओर से दावा किया गया था कि आरोपियों द्वारा लगभग सवा दो सौ करोड़ रुपये की रिश्वत अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी से ली थी। अब ईडी की तरफ से बताया गया कि ब्रिटिश नागरिक सिम्स और मिशेल ने अपनी कंपनियों के माध्यम से रिश्वत का पैसा लिया।

12 हेलीकॉप्टर का सौदा कराने की एवज में ये रकम तो ली गई, लेकिन इसके बावजूद भी हैलीकॉप्टर नहीं खरीदे गए। पैसा अलग-अलग कंपनियों, लोगों को बांट दिया गया। सिम्स के बैंक खाते से बड़ी रकम का लेन-देन हुआ।
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc