कबूतर क्या उड़े, चोरी का इल्जाम लगा, बच्चों को ही धो डाला


मेरा देश महान, देखिये तो यहाँ क्या नहीं होता? उनके कबूतर क्या उड़ गए, उन्होंने चोरी का इल्जाम लगा कर, बच्चों को ही धो डाला.

सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करते हुए  Manvinder Bhimber Lucid जी ने लिखा है- 
'ये मासूम चेहरे देखिये, मात्र 2 कबूतरों की चोरी के शक में इन्हें खटिया से बांध कर पीटा गया है। देश बड़े मुद्दों पर चुनाव लड़ रहा है। सरकार बनाने में व्यस्त है। इन मासूमों की चिंता किसे है? ये बड़ा मुद्दा थोड़े न है।'
प्रतिक्रिया में Kuldeep Ujjwal जी बताते हैं, 'हालांकि चोरी करना गलत है, लेकिन यह बेरहमी तो बड़ा पाप है, यह तो मासूम हैं, प्यार से समझाया जा सकता था।' 
और फिर अभी यह भी कहाँ पता चला है कि कबूतर इन्होने चुराए या वो खुद से उड़ गए, आजाद हो गए.  

मामला यूपी के मेरठ से सटे सरधना क्षेत्र का है। यहां कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में कुछ दबंगों ने कबूतर चोरी के शक में बंधक बनाकर दो बच्चों की जमकर पिटाई की। इतना ही नहीं दबंगों ने मासूम भाइयों के पिता द्वारा गुहार लगाने पर भी उन्हें पीटना नहीं छोड़ा। बच्चों के पिता ने पुलिस में आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी है। 

जानकारी के अनुसार क्षेत्र के छुर में एक परिवार के कुछ कबूतर चोरी हो गए थे। इसके बाद परिवार के दबंगों ने पड़ोस में ही रहने वाले दो भाइयों को पकड़ लिया और उन पर कबूतर चोरी करने का आरोप लगाते हुए घर बुलाकर चारपाई से बांध लिया। 

दबंगों ने दोनों बच्चों के साथ खूब मार पिटाई की। भनक लगने पर बच्चों का पिता मौके पर पहुंचा और बच्चों को छोड़ने की गुहार लगाई, लेकिन इसके बावजूद बच्चों को खूब मारा गया। बाद में अन्य लोगों की मदद ली जाकर बच्चों को जैसे-तैसे छुड़ाया गया। 

वहीं सूचना पर सीओ द्वारा संज्ञान लेने पर पीड़ित बच्चों के पिता ने पुलिस में दबंगों के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस के अनुसार मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी। 
देखें VIDEO 

क्यों पालते हैं लोग कबूतर?  


'कबूतर जा जा जा.. पहले प्यार की पहली चिट्ठी साजन को दे आ...' आपने अवश्य सुना होगा. जी हाँ, कबूतरों से इस तरह के काम कराये जाते रहे हैं, लेकिन अब जासूसी कराई जाती है. 

वर्ष 2016 में जम्मू में जासूसी के शक में 150 से ज्यादा कबूतर इस आशंका में पकड़े गए थे कि नियंत्रण रेखा के पार पाकिस्तान खुफिया एजेंसियों को गोपनीय सूचना पहुंचाने के लिए इन कबूतरों का इस्तेमाल किया जाना था.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, कबूतरों को पंजाब सीमा से लगे संवेदनशील पुलवामा जिले से तस्करी कर लाया गया था. जम्मू के एसएसपी सुनील गुप्ता ने बताया कि कुछ दिनों पहले जांच के दौरान पुलिस ने एक वाहन से कुछ बक्सों को जब्त किया था. फलों के बक्सों में कैद 153 कबूतरों को कश्मीर घाटी ले जाया जा रहा था.

इन कबूतरों के शरीर पर गुलाबी निशान थे और इन्हें संदिग्ध रिंग पहनाए गए थे. तब एसएसपी ने बताया था कि पुलिस ने कबूतर ले जा रहे लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया, साथ ही इस मामले की जांच सीआईडी को सौंप दी गई.

यदि मामले में ऐसा कुछ निकलता है तो अपराध तो दबंगों ने किया है या कर रहे थे. 

- चित्रांश 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc