भाजपा के झूठे प्रचार के खिलाफ एक बड़ा राष्ट्रीय प्रमाण बन गया प्रवक्ता संबित पात्रा का अपना वीडियो


''कभी कभी ऐसा हो जाता है जिसकी हम दूर तक कल्पना नहीं किये होते. भाजपा के चर्चित राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को ज़रा भी अंदाजा नहीं रहा होगा कि जिसके माध्यम से वे अपने को महान बताने की कोशिश कर रहे हैं, उनका वही कदम उन्हें कटघरे में खड़ा कर देगा. जी हाँ, संबित पात्रा ने आज एक वीडियो वायरल कर अपनी ही पार्टी भाजपा एवं पीएम नरेंद्र मोदी की जमकर किरकिरी करवा दी. हालात यह हैं कि संबित पात्रा का यह वीडियो भाजपा के झूठे प्रचार का राष्ट्रीय प्रमाण बन गया.'' 

संबित पात्रा को पुरी लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी बनाया गया है. वो खुद को देश का सबसे महान और संवेदनशील सेवक बताने में जुटे हुए हैं. इसी क्रम वो ओडिशा के पुरी में रहने वाले निर्धन एवं अनुसूचित जाति के लोगों के यहां ना केवल भोजन कर रहे हैं, बल्कि अपने हाथ से भोजन भी करवा रहे हैं. संबित पात्रा ने अपने ट्वीटर हेंडल पर ऐसा ही एक वीडियो पोस्ट किया. साथ ही उन्होंने लिखा 'पुरी के एक छोटे से गांव में रहने वाली एक बूढ़ी विधवा माँ, उसकी तीन बेटियां, जिनमें 2 दिव्यांग व बेटा मजदूरी करता है. ऐसी माँ का घर बनाने का काम श्री नरेंद्र मोदी जी ने किया है. यह मेरा अपना परिवार है, माँ ने खाना बनाकर खिलाया. मैंने अपने हाथों से इन्हें खाना खिलाया और मैं यह मानता हूँ कि इनकी सेवा ही ईश्वर की सबसे बड़ी पूजा है.'

किरकिरी ऐसे हुई
दरअसल वीडियो में वो घर कतई दिखाई नहीं दे रहा, जिसका जिक्र संबित पात्रा ने किया है. पीछे एक वर्षों पुरानी दीवार नजर आ रही है. यह माना नहीं जा सकता कि इस तरह की दीवार वाला घर 'प्रधानमंत्री आवास योजना' के तहत बना होगा. इससे भी बड़ी बात यह कि वृद्ध महिला चूल्हे पर खाना पका रही है. सोशल मीडिया पर लोग ट्रोल कर रहे हैं. सवाल पूछ रहे हैं कि महिला को उज्जवला योजना के तहत रसोई गैस क्यों नहीं दी गई. हालात यह हैं कि संबित पात्रा का यह वीडियो 'प्रधानमंत्री आवास योजना' और 'प्रधानमन्त्री उज्जवला योजना' को लेकर भाजपा के झूठे प्रचार के खिलाफ एक बड़ा राष्ट्रीय प्रमाण बन गया है. देखिये वीडियो- 


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc