अनजाने ही उसके बेहद करीब, आखिर क्यों?


''आज वैलेंटाइन डे था। एक खुशनुमा प्यार भरा वातावरण। खैर वसु जानती थी अनिरुद्ध विवाहित हैं, पर उसके स्वभाव उसकी हँसी ओर उसकी बातों ने वसु को अपने पर से नियंत्रण  खोने को मजबूर कर दिया था। ''
- सुरेखा अग्रवाल          

सुनो चाह कर भी तुम्हें मन के भाव जता  ही नहीं पाती। सुनो न आज के दिन के  लिए कितनी बातें सहेज कर रखी थी मैंने। तुम्हारे पसंदीदा रंग को पहन आज तुममे ही आत्मसात होना चाहती थी। अनिरुद्ध आज बहुत कुछ कहने की ख़्वाहिश है। अगर आज नहीं कह सकी तो आगे कुछ भी नहीं कह पाऊँगी और इसलिए शायद आज मैं office जल्दी  पहुँची थी। नम आँखे लिए अनिरूद्ध के केबिन से वसु वह  पाती रामु काका को दे चली आई थी। यह अनिरूद्ध सर को दे दीजियेगा काका। month end नहीं था फिर भी न जाने किन बातों में उलझा अनिरुद्ध ने सारी भड़ास वसु पर उतार दी थी। पूरा staff चकित था।

आज वैलेंटाइन डे था। एक खुशनुमा प्यार भरा वातावरण। खैर वसु जानती थी अनिरुद्ध विवाहित हैं, पर उसके स्वभाव उसकी हँसी ओर उसकी बातों ने वसु को अपने पर से नियंत्रण  खोने को मजबूर कर दिया था। वसु उसके व्यक्तित्व से बेहद प्रभावित भी। चाहने लगी थी। पिछले तीन वर्षों में अनजाने ही उसके बेहद करीब। और अनिरुद्ध यह अच्छे से जानता था। cabin में बैठ वसु ने कई बार उसे चोरी चोरी निहारते देखा था।

अनिरूद्ध वसु की सादगी पर फिदा था, पर विवाहित था और वह अपनी मर्यादा जानता था। उसे पता था कि  गर वह आज उसे टाल देगा तो वसु टूटेगी जरूर पर हारेगी नहीं। इसलिए उसने आज का दिन चुना था पथरीली आंखों से वसु का खत पढ़ता रहा। गुलाबी माहौल पल भर में दोनों के लिए पतझड़ का रूप ले चुका था।

वसु बेहद आहत थी। फिर भी उसने अनिरुद्ध की तस्वीर हाथ मे लें वह सारी बातें कह  दी। जानती थी अनिरुद्ध  अपने हाथों मज़बूर है। कोई बात नहीं  अनिरुद्ध तुम न सही, सुनो मुझे तुमसे प्यार है और यह कभी कम नहीं  होगा। वैलेंटाइन मुबारक हो तुम्हें। जानते हो मकसद तुम्हे पाना हैं ही नहीं। बस तुम्हें निहारने मात्र से ही मैं सँवर जाती हूं।

सुनो मुस्कानों के इस उत्सव पर तुम मेरे, होठो पर ही रहना यह कह आंखों को पौंछ वसु प्यार के माहौल में कैद हो जाती है। हाथ में अनिरुद्ध  की तस्वीर लिए।


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc