कश्मीर पर फैसला नहीं लिया तो कोई भी राजनीति पर विश्वास नहीं करेगा -मलखान




''चंबल के शेर कहे जाने वाले दस्यु सरगना मलखान सिंह ने पुलवामा आतंकी हमले को लेकर मोदी सरकार पर तंज कसा है. अब भी अगर कश्मीर पर फैसला नहीं लिया गया तो कोई भी राजनीति पर विश्वास नहीं करेगा. पाकिस्तान में घुस कर उसकी धज्जिया उड़ाने का वक्त आ गया है.''  
-बी बी श्रीवास्तव  

इसी के साथ उन्होंने पाकिस्तान को ललकारते हुए कहा है मध्यप्रदेश में 700 बागी बचे हैं. अगर सरकार चाहे तो बिना शर्त, बिना वेतन हम बॉर्डर पर देश के लिए मर मिटने को तैयार हैं. उन्होंने कहा, 15 साल बीहड़ों में कथा नहीं बांची है. हम पाकिस्तान को जरूर धूल चटा कर उसको उसकी औकात दिखा देंगे. गांव व जिले का बागी रहा हूं, देश का नहीं.

उन्होंने कहा मैंने 1982 में आत्मसमर्पण किया था. तब अर्जुन सिंह मप्र के मुख्यमंत्री थे. यह आत्मसमर्पण इंदिरा गांधी की परमीशन पर हुआ था. मैंने मंच से ऐलान किया था कि यदि कोई महिला शिनाख्त कर दे कि मलखान सिंह ने चांदी की भी अंगूठी उतारी हो तो इसी मंच के सामने फांसी पर लटका दिया जाए. हम अन्याय के खिलाफ राजनीति के पक्षधर हैं, राजनीति से अपना पेट भरने के नहीं. 





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc