मेरे लिए बहुत महत्व रखती है "राखी"


आज राखी पर विशेष    


Image may contain: 1 person, indoor, text that says "स्व.श्रीमति दवा कटियार"

पूरे पचास साल हो गए। तब से लेकर आज तक जीजा जी शिवरतन कटियार और मेरी बहन जी ( जयश्री ) हर सुख-दुख, करनी-कारज में हमेशा साथ रहे। आज भी जीजा जी शिवरतन कटियार की बिना सलाह के घर का कोई काम नहीं होता। हम सब भाइयों की शादी में सेहरा भी जीजा जी ही बांधते रहे हैं।

सलीम तन्हा

हाल ही में बहन जयश्री दुनिया से विदा ले गईं। आज उनकी बहुत याद आ रही है। हम चार भाइयों में सिर्फ एक ही तो बहन थीं, जयश्री। लेकिन, जीजा शिवरतन के अलावा उनके छोटे भाई यानी हमारे छोटे जीजा जी रामबाबू कटियार,छोटी बहन जी कुसुम कटियार दोनों भांजे विक्रम कटियार, धीरेन्द्र कटियार अभी भी साथ हैं। घर के हर काम में हाथ बंटाते चले आ रहे हैं। 

Image may contain: one or more people and people standing
मुझे याद है कि मेरे पिता जी सुल्तान अहमद और जीजा शिवरतन कटियार विदिशा जिले के त्योंदा थाने में पदस्थ थे। यह बात सन् 1970 के आसपास की है। पुलिस क्वार्टर में हम लोग अगल-बगल में ही रहा करते थे। तब,बहन जयश्री ने हम भाइयों को राखी बांधी थी। तब से लेकर आज तक हमलोग एक साथ ही हैं। अपने परिवार के कुछ फोटो शेयर कर रहा हूँ। एक फोटो वह भी जिसमें मेरे जीजा जी शिवरतन कटियार मेरी शादी का सेहरा बांध रहे हैं और बहन जयश्री आँखों में सुरमा लगा रही हैं। बाकी अन्य फोटो भी हैं।
Image may contain: one or more people, people sitting and indoor
राखी का त्यौहार.....
राखी का त्यौहार,सुहाना लगता है।
बहना का ये प्यार, सुहाना लगता है।।
गूंज रही है आज हंसी सब बहनों की।
पूरा ये घर- वार,सुहाना लगता है।।
मेरी बहना दूर गाँव में रहती है।
मुझको तो उस पार, सुहाना लगता है।।
रंग- बिरंगे रिश्तों के इन धागों से।
सुन्दर ये बाज़ार,सुहाना लगता है।।
बहना जब राखी के दिन घर आती है।
सारा ये संसार,सुहाना लगता है।
-सलीम तन्हा

संपादक
दैनिक अक्षर सम्राट, भोपाल।
8269243277


Image may contain: 2 people, people sitting

Image may contain: 4 people, people standing


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc