कमजोर होकर घर वापिस लौटे पायलट

अशोक गहलोत से बग़ावत करने वाले सचिन ...

मुख्यमंत्री गहलोत के खिलाफ खुली बगावत कर राजस्थान में कांग्रेस के सामने सियासी संकट पैदा करने वाले सचिन पायलट राहुल और प्रियंका से मुलाकात के बाद कमजोर होकर घर वापिस लौट आये हैं. अब कांग्रेस में उनकी वह बात नहीं रहेगी जो पहले थी, क्योंकि भले वह यह कह कर बचना चाह रहे हों कि उनका कदम कांग्रेस पार्टी के खिलाफ नहीं, बल्कि अशोक गहलोत के खिलाफ था, लेकिन क्या यह सच नहीं कि उन्होंने राजस्थान में कांग्रेस को बड़े संकट में डाल दिया था. फिलहाल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एआईसीसी से तीन सदस्यीय समिति बनाने को कहा है, जो सचिन पायलट और बागी विधायकों की ओर से उठाए गए मुद्दों का हल निकालेगी. 

राहुल और प्रियंका के साथ मुलाकात के दौरान सचिन पायलट ने यह साफ किया है कि उनका कदम कांग्रेस पार्टी के खिलाफ नहीं बल्कि अशोक गहलोत के विरोध में है. पायलट ने राजस्थान में सियासी संकट के पीछे की पूरी कहानी बताई, साथ में उन्होंने यह भी बताया कि वो क्यों बगावत को मजबूर हुए.

उल्लेखनीय है कि पायलट से मुलाकात से पहले राहुल गांधी और प्रियंका ने आपस में करीब डेढ़ घंटे तक बैठक की. इसके बाद दोनों राहुल गांधी के आवास से निकले और किसी अन्य स्थान पर जाकर पायलट से मिले. यह मुलाकात विधानसभा सत्र आरंभ होने से कुछ दिनों पहले हुई है और अब राजस्थान में कांग्रेस के भीतर पिछले कुछ हफ्तों से चली आ रही उठापठक थमने की उम्मीद है. अब 14 अगस्त से राजस्थान विधानसभा का सत्र आरंभ होगा, जिसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बहुमत साबित करेंगे. कांग्रेस आलाकमान ने पायलट को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री के पदों से हटा दिया था. बागी रुख अपनाने के साथ ही पायलट कई बार स्पष्ट कर चुके हैं कि वह भाजपा में शामिल नहीं होंगे. 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc