राजनैतिक दलों के कारण कोरोना के भयानक होते हालात, भाजपा के नेताजी भोपाल से लाद लाये कोरोना, प्रद्युम्न लोधी ने उड़ाये कायदे क़ानून के चीथड़े


Pradyuman sent to Karaira by making Lodhi voters in charge to keep him in  charge | लोधी वोटरों को रिझाने प्रभारी बनाकर जिन प्रद्युम्न को करैरा भेजा,  वे भाजपा पर रीझे, उलझन

अगर बीजेपी के कार्यक्रम की भीड़ के कारण नेताजी संक्रमित हुए हैं तो यह राजनैतिक दलों की गंभीर लापरवाही है, जो आम जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं को जानलेवा आफत में डालने जैसी है, जिन्होंने छतरपुर जिले में आकर ग्रीन जोन बने महाराजपुर में आफत खड़ी कर दी.


धीरज चतुर्वेदी /19 जुलाई 2020/ 

रविवार को छतरपुर जिले के महाराजपुर में भाजपा के एक नेताजी के संक्रमित होने से अफरा तफरी मच गई है. बताते हैं इन नेताजी ने पिछले दिनों भोपाल में भाजपा के किसी कार्यक्रम में शिरकत की थी. अगर ऐसा है तो भोपाल से लादकर महाराजपुर पंहुचा कोरोना का संक्रमण बेहद गंभीर हो सकता है. भोपाल में किस किस भाजपा नेता से उनकी मुलाक़ात हुई या पार्टी के कार्यक्रम में कौन कौन शामिल थे, यह फेलारा चिंताजनक हो सकता है. मामला इसलिये और अधिक हैरान करने वाला है, क्योंकि कांग्रेस के बागी प्रद्युम्न लोधी का बीजेपी में शामिल होना और नागरिक आपूर्ति निगम का अध्यक्ष बनने के बाद गत रोज बड़ामलहरा में आगमन पर कोरोना सावधानियों के नियमों के चीथड़े उड़ते दिखे. चिंता इस बात की है कि इस भीड़ में कितने कोरोना बम घूम रहे थे, जो खतरनाक ना हो जाये. 


रविवार को महाराजपुर में 58 वर्षीय भाजपा के नेता संक्रमित मिले हैं. इन नेताजी की पत्नी महाराजपुर अस्पताल में नर्स है. नेताजी कैसे ओर क्यो संक्रमित हुए उनकी ट्रेवल हिस्ट्री चौकाने ओर गंभीर संकेत देने वाली है. आम चर्चा है कि नेताजी पिछले दिनों भोपाल गये थे. जहाँ वह भाजपा के एक कार्यक्रम के हिस्सेदार बने. इस दौरान पार्टी के नेताओं से उन्होंने मुलाकत भी की. राजनैतिक दलों के कई नेता संक्रमित हो चुके है जिसमें बीजेपी के कई नेता भी शामिल है. 

अब अगर बीजेपी के आयोजित कार्यक्रम की भीड़ के कारण नेताजी संक्रमित हुए है तो यह राजनैतिक दलों की गंभीर लापरवाही है, जो आम जनता और पार्टी कार्यकर्ताओ को जानलेवा आफत में डालने जैसी है. अब यह पड़ताल कौन करेगा कि नेताजी ने संक्रमण भोपाल में फैलाया या पार्टी कार्यक्रम में घूमते कोरोना बम के वह सम्पर्क में आ गये. जिन्होंने छतरपुर जिले में आकर ग्रीन जोन बने महाराजपुर में आफत खड़ी कर दी. 


बताया जा रहा है कि नेताजी भोपाल से लौटने के बाद होम क्वारंटाइन नहीं हुए, बल्कि बस स्टैंड क्षेत्र में अपनी बैठके जमाते रहे. अब स्थानीय प्रशासन यह जानकारी एकत्रित करने में जुटा है कि नेताजी किस किस के स्थानीय सम्पर्क में आये. 


कोरोना का कम्न्यूटी स्प्रेड शुरू हो चुका है लेकिन नेताजी बेफिक्र हैं. कांग्रेस के बागी विधायक एवं नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष प्रद्युम्न लोधी का दो रोज पूर्व बड़ामलहरा में आगमन पर हजारों की भीड़ एकत्रित होना लोकतंत्र का बदरंग चेहरा प्रदर्शित करता है. दर्शाता है कि भाजपा नेताओं को आम जनता ओर अपने कार्यकर्ताओ कि कोई फ़िक्र नहीं है. जानलेवा बीमारी की आपदा में भी अपनी राजनैतिक हुड़दंग लीला करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे है. प्रशासन किस तरह सत्ता की चिलम भर अपने अधिकारों को खूटी पर टांग नियम और कायदों के चीथड़े उड़ा देता है, यह सबूत प्रद्युम्न लोधी का कार्यक्रम है. 

यही आम और खास में अंतर है. मास्क ना लगाने पर 500 का जुर्माना वही क़ानून को तार तार करने वालो के सामने तलवा चाट प्रतियोगिता का पूरा तंत्र हिस्सेदार बन जाता है. राजनैतिक दलों ओर नेताओं कि यही नौटंकी चलती रही तो आमजनता को भीषण आपदा के मुँह में धकेला जा रहा है.





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc