विकास दुबे का कबूलनामा 'कई हैं मददगार, पुलिसवालों की लाशों को आग लगाने का था इरादा'


Vikas Dubey confesses crime! How did this killer commit the crime ...

उज्जैन से गिरफ्तार कुख्यात अपराधी विकास दुबे से मध्य प्रदेश पुलिस पूछताछ कर रही है. सूत्रों के मुताबिक, विकास दुबे ने पुलिस को बताया कि उसे डर था कि पुलिस उसका एनकाउंटर करने आ रही है. इस वजह से उसने फायरिंग की. उसने यह भी कबूला है कि पुलिस के लोग उसके संपर्क में थे और उन्होंने ही रेड की जानकारी दी थी.


सूत्रों के मुताबिक, विकास को पुलिस के छापेमारी की खबर पहले से होने के कारण उसने अपने दोस्तों को बुला लिया था. उसने अपने साथियों को खतरा होने की बात कहकर हथियार साथ में लाने की बात कही थी. विकास ने पुलिस को बताया कि आमतौर पर उसके साथी वैसे भी हथियार लेकर ही आसपास जाते थे. लेकिन घटना के एक दिन पहले ही उसने लोगों को बोल दिया था कि हथियार लेकर ही आएं. विकास दुबे ने पुलिस के लूटे हुए हथियारों के बारे में भी जानकारी दी है और कहा कि वह उस जगह को दिखा सकता है. 


सबूत मिटाने की प्लानिंग
सूत्रों की मानें तो विकास ने बताया कि घटना के बाद घर के ठीक बगल में कुंए के पास पांच पुलिसवालों की लाशों को एक के ऊपर एक रखा गया था, जिससे उनमें आग लगा कर सबूत नष्ट कर दिए जाएं. आग लगाने के लिये घर में गैलनों में तेल रखा गया था. एक पचास लीटर के गैलन में तेल से जलाने का इरादा था. लेकिन लाशें इकट्टठा करने के बाद उसे मौका नहीं मिला और वो फरार हो गया.

विकास ने पुलिस को बताया कि उसने अपने सभी साथियों को अलग-अलग भागने के लिये कहा था. गांव से निकलते वक्त ज्यादातर साथियों को जिधर समझ में आया, वह उधर भाग गए. विकास ने बताया हम लोगों को सूचना थी कि पुलिस भोर में  आएगी लेकिन पुलिस रात में ही रेड करने आ गई. 



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc