अंतरात्मा की आबाज सुनना सपा विधायक राजेश शुक्ल को भारी पड़ा, पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता


MP: राज्यसभा चुनाव में BJP को दिया वोट ...

अंतरात्मा की आबाज को सुनना मध्यप्रदेश में समाजवादी पार्टी के एकमात्र विधायक राजेश उर्फ़ बब्ब्लू शुक्ल को भारी पड़ गया है, उन्हें पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है. उन्होंने राज्य सभा चुनाव में बीजेपी उम्मीदवार के पक्ष में वोट डाला था.
पंकज चतुर्वेदी 


बबलू शुक्ल छतरपुर, बुन्देलखंड के बिजावर सीट से विधायक हैं. बबलू शुक्ल का परिवार कांग्रेस से जुड़ा रहा, इनके पिताजी सालों तक जटाशंकर मंदिर ट्रस्ट के पद्दधिकारी रहे. ये लोग बिजावर के ही रहने वाले हैं. बबलू के बड़े भाई जगदीश शुक्ल पहले युवक कांग्रस के और बाद में जिला कांग्रेस के अध्यक्ष रहे. इनका परिवार टौरिया हॉउस अर्थात सत्यव्रत चतुर्वेदी का वफादार कहलाता है. कुछ् साल पहले जब दिग्विजय सिंह से नाराज हो कर सत्यव्रत जी राजनितिक विरक्त हुए थे, तब जगदीश शुक्ल सबसे पहले भा ज पा में गए थे, बाद में जैसे ही सत्यव्रत जी सक्रीय हुए तो वे फिर कांग्रेस में लौट आये.



बबलू शुक्ल भी कांग्रेस से टिकट चाहते थे
उधर सत्यव्रत जी के बेटे नितिन की चाहत भी विधान सभा टिकट की थी.- दोनों को तकत मिला नहीं और बब्लू ने बिजावर से और बनती ने राजनगर सीट से सायकल की सवारी कर ली. बंटी बाबु तो जमानत भी नहीं बचा सके और चौथे नम्बर पर रहे लेकिन बबलू को अपने परिवार, अपने शराब के व्यापार आदि का सहयोग मिला और जीत गए.


अब बब्लू शुक्ल का गजब तर्क है कि उन्हें पार्टी से कोई आदेश मिला नहीं था सो उन्होंने "आत्मा की आवाज़" पर वोट दे दिया, ताकि उनके पिछड़े क्षेत्र का विकास हो सके. हकीकत यह है कि जब राज्य सबह चुनाव की घोषणा हुयी थी ( तारीख तो बाद में कोरोना के कारण आगे बढ़ी) तभी समाजवादी पार्टी ने लिखित निर्देश दिया था कि वोट कांग्रेस को दिया जाए. समाजवादी पार्टी ने ट्विट के जरिये बबलू शुक्ल पर पार्टी विरोधी गतिविधि में शामिल होने की बात कही है. कुल मिला कर गांधी देश की आत्मा है, और आत्मा की आवाज़ पर कुछ भी किया जा सकता है और आप जानते ही हैं कि असली "गाँधी" कहाँ छपा होता है. इस पूरी रामलीला लिखने का अर्थ यह है कि कांग्रेसी पार्टी को भीतर से घुस कर, बाहर जा कर, तीसरी तरफ से कैसे तोड़ते हैं? इसका आकलन कर लें, वो क्या है न कि शक्तिमान कौन है?





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc