पत्नी पाजीटिव पति नेगेटिव, रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी तो पास रह कर भी बेअसर है कोरोना


News Briefs: Today's Short News Headlines In Hindi ...

कोरोना वायरस उन्हीं लोगों को चपेट में ले रहा है, जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है. ऐसे मामले सामने आ रहे हैं, जो कोरोना को कोरोना होने पर व्यंग्य निरूपित कर रहे हैं. गौरिहार जनपद में दो रोज पूर्व 5 कोरोना सेम्पल में सक्रमित होने की पुष्टि हुई. दिलचस्प है कि पत्नी पाजीटिव है तो पति नेगेटिव. एक परिवार के सभी सदस्य नेगेटिव पाये गये, लेकिन 10 वर्षीय बालिका पाजीटिव निकली. क्या यह कहें  कि कोरोना भी झमेले में पड़ गया है. 


छतरपुर म.प्र/धीरज चतुर्वेदी

गौरिहार ब्लाक में 7 जून को एक साथ 5 संक्रमितों के पाजीटिव मिलने से हलाकान के हालत थे. इन मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री खंगाली तो चौकाने वाले परिणाम सामने आये हैं. गौरिहार कस्बे के वार्ड क्रमांक 3 में अलग अलग परिवारो के दो संक्रमित मिले. दोनो ही गुरूग्राम हरियाणा से साथ में आये थे. गुरूग्राम से जो महिला अपने परिवार के साथ वापिस आई है, उसके पति और बच्चे की रिपोर्ट नेगेटिव आई है, जबकि महिला का सेम्पल पाजीटिव आया. बताया गया कि संक्रमित महिला पहले से बीमार है. जिसके वाल्व खराब होने के कारण उसका ईलाज गुरूग्राम में भी चलता रहा. 


इसी परिवार के साथ आये एक 25 साल के युवक का सेम्पल पाजीटिव पाया गया है. गौरिहार ब्लाक के ग्राम ठकुर्रा में 10 वर्षीय बालिका की रिपोर्ट में संक्रमण मिला है. जबकि इसकी मां और पिता सहित 8 वर्ष कि  छोटी बहन की सेम्पल रिर्पार्ट में किसी तरह के कोरोना वायरस के लक्षण नही पाये गये. यह परिवार 2 जून को दिल्ली से वापस अपने गांव आया था. इसी जनपद के ग्राम महोईखुर्द में एक 30 वर्षीय महिला को संक्रमण की पुष्टि हुई है जो परिवार के साथ 6 जून को दिल्ली से लौटी थी. इस महिला के पति की रिपोर्ट नेगेटिव आई है. ग्राम अभउ में भी 38 साल की महिला को संक्रमण पाया गया है. इस महिला कि 4 जून को परिवार के साथ हरियाणा से वापिसी हुई थी. महिला के पति और बच्चे का सेम्पल नेगेटिव है. कुल मिलाकर देखे तो एक ही परिवार के एक सदस्य को संक्रमित पाया गया है तो अन्य कि रिपोर्ट नेगेटिव है. कहा जा सकता है पारिवारिक संक्रमण से अभी भी कोरोना का वायरस अछूता है जो सुखद है. 

कोरोना वायरस के संक्रमण का एक ओर निचोड निकल सामने आ रहा है कि पुरुषो के साथ महिलाओ में भी संक्रमण का अनुपात कम नही है. बुंदेलखंड के लिहाज से आंकलन किया जाये तो सागर संभागीय मुख्यालय में 7 जून तक 237 मामले सामने आ चुके थे. जिसमें से 67 प्रतिशत महिलाये शिकार हुई है. छतरपुर जिले की बात की जाये तो 8 जून तक कुल 47 मामले सामने आये है. जिनमें से 25 पुरुष है तो 16 महिलाये है. एक ही परिवार के बच्चो और महिलाओ को पाजीटिव निकलना और पूरे परिवार का नेगेटिव होने के कारणो पर चिकित्सको का कहना है कि प्रतिरोधक क्षमता पर कोरोना से संक्रमित होने का असर होता है.



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc