हाथ चूम कर बाबा कोरोना भगा रहा था, खुद मर गया 19 पॉजिटिव, 29 बाबा क्वारंटाइन




कोरोना महामारी से आज पूरी दुनिया हलाकान है. जानलेवा वायरस की चपेट में आकर भारत में आज कोरोना संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3 लाख को छू रहा है. 8 हजार से अधिक इसके शिकार बन कर जान गंबा चुके चुके हैं. और बाबा लोग इस बीमारी को कमाई का जरिया बनाने में लगे हैं. झाड़ा लगाने वाले ढोंगी सामने आ रहे हैं.



झाड़ फूंक कर कोरोना जैसी महामारी का इलाज हाथ चूम कर करने वाले रतलाम के 'हाथ चूम बाबा' की खुद की कोरोना से मृत्यु का मामला सामने आया है. हद तो यह है कि हमारे देश में अंधविश्वास किस कदर अन्दर तक घुसा हुआ है कि विश्व स्तर पर फ़ैली कोरोना जैसी महामारी का इलाज कराने लोग बाबाओं का सहारा ले रहे हैं और बाबा भी हाथ चूम कर दुआ देकर कोरोना भगा रहे हैं. 

हाथ चूम कर इलाज करने वाले रतलाम के बाबा असलम की मृत्यु कोरोना से होने का पता चलते ही प्रशासन हरकत में आया और उसके संपर्क में आये लोगों की जाँच पड़ताल की गई. तब संपर्क में आये 19 लोग  पॉजिटिव पाए गए. इसके बाद जिला प्रशासन ने बाबाओं पर शिकंजा कसा है. 29 बाबा क्वारंटाइन किये गए हैं. रतलाम का नयापुरा हॉट स्पॉट बन गया है. 

इसके पहले भी यूपी के लखनऊ से 11 रुपये के ताबीज से कोरोना वायरस का इलाज करने का दावा करने वाले अहमद नाम के एक व्यक्ति को वजीरगंज पुलिस ने गिरफ्तार किया है. लखनऊ में कई जगहों पर कोरोना बाबा के नाम से पोस्टर लगाए गए थे जिनमें 11 रुपये के ताबीज से कोरोना वायरस का इलाज करने दावा किया गया. अहमद का दावा था कि जो कोरोना वायरस के इलाज और मास्क के लिए जिनके पास पैसे नहीं हैं, वो 11 रुपये के ताबीज से खुद को सुरक्षित रख सकते हैं.



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc