सपना चौधरी का 'तेरी आंख्या का यो काजल..' ने उड़ा दी पुलिसकर्मियों की खुशी


कोरोना काल में एक वीडियो आजकल सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर इस वीडियो को लोग बड़े चाव से देख रहे हैं। साथ ही इसे मनोरंजन के रूप में देख रहे हैं। दरअसल, वीडियो में एक गंजे सिर का युवक थाने या चौकी में पुलिसकर्मियों के सामने डांस कर रहा है। पुलिसकर्मी युवक को डांस करते देख बहुत खुश हो रहे हैं। आखिर खुश होने की बात भी है, क्योंकि वह युवक चर्चित देसी डांसर सपना चौधरी के गाने पर डांस जो कर रहा है।   

आकाश नागर 
सपना चौधरी का लोकप्रिय गाना “तेरी आंख्या का यो काजल, मने करे से यो घायल” गाने पर युवक ने जमकर उनके ठुमके मारे हैं। वीडियो में देखने पर लग रहा है कि उनके ठुमकों को पुलिसकर्मी अपने मनोरंजन के तौर पर देख रहे हैं। लेकिन इसके साथ ही पुलिसकर्मियों ने खुशी-खुशी इस वीडियो को वायरल कर दिया। तब उन्हें शायद यह पता नहीं था कि यह मनोरंजन उन्हें महंगा पड सकता है। वीडियो वायरल होने के बाद जब यह वीडियो पुलिस के उच्चाधिकारियों के पास पहुंचा तो उन्होंने जांच बिठा दी। जांच में जो स्पष्ट हुआ उसके अनुसार, वीडियो में डांस कर रहे युवक को पुलिस वालों ने बाजार से लाकडाऊन का उल्लंघन करने पर पकडा था।
जब पुलिसकर्मी उस युवक को पकडकर चौकी में लाएं तो वहा किसी पुलिस वाले ने अपने मोबाइल पर सपना चौधरी का गाना चला रखा था। इस पर युवक ने सपना चौधरी के गाने पर डांस करना शुरू कर दिया। इस डांस को किसी पुलिसकर्मी ने अपने मोबाइल में कैद कर लिया और वायरल कर दिया। सपना चौधरी के डांस को देखने पर एक दारोगा और पुलिस चौकी के इंचार्ज को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया।
Yahan corona pareshan kar raha hai sabko in bhai sahab ko Sapna Chaudhari banne ka shock Chadha hua hai kab sudhrega India DSP Sahab bhi dance dekh rahe Hain
See Dharmendra's other Tweets
हालांकि, दूसरी तरफ इस मामले पर पुलिस चौकी इंचार्ज के खिलाफ लिया गया एक्शन लोगों को नहीं भा रहा है। लोगों का कहना है कि ऐसे समय में जब कोरोना वारियर्स सरकार हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा कर रही है और उनके सम्मान में तालियों और थाली बजवा रही है, तो ऐसे में पुलिसकर्मियों ने अगर चौकी में युवक से डांस करा दिया तो वह गुनाह नहीं है। गुनाह तो तब होता अगर जब कोई पुलिसकर्मी रिश्वत लेकर किसी अपराधी को छोड़ देता।
उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में कोतवाली इलाके मे लाॅकडाउन उल्लंघन मामले में पकड़े गए एक युवक का सपना चौधरी डांस करने का वीडियो वायरल होने के मामले मे नया शहर चौकी प्रभारी को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया। एसएसपी आकाश तोमर ने आज यहां यह जानकारी दी।
पुलिस चौकी में यह विडियो वायरल होने का मामला यूपी के इटावा का है। जहां की नया शहर चौकी में यह विडियो सूट किया गया। इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर के अनुसार इस मामले में पुलिस उपाधीक्षक वैभव पांडे के स्तर पर कराई गई। जांच के बाद नया चौकी प्रभारी विश्वनाथ मिश्रा को जिम्मेदार मानते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।
जानकारी के अनुसार नया शहर चौकी अंतर्गत पुलिस बाजार में घूम रहे इस युवक को लॉकडाउन के उल्लंघन में पकड़कर चौकी ले आई थी। इसके बाद इस मामले की जानकारी पुलिस चौकी इंचार्ज को हुई तो वह पुलिस चौकी पर पहुंचे। चौकी इंचार्ज विश्वनाथ मिश्रा पर आरोप है कि उन्होंने बिना लिखा पढ़ी करते हुए उसे पूरे स्टाफ के सामने सपना चौधरी के गानों पर डांस कराया।
पुलिस चौकी में डांस की जानकारी जब वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर को मिली तो उन्होंने पूरे मामले की जानकारी करने के बाद लापरवाही के आरोप में चौकी इंचार्ज को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया। इसी के साथ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने वीडियो में दिखने वाले एक अन्य एसआई व आधा दर्जन सिपाहियों से स्पष्टीकरण मांग गया है। जिसमें एक महिला सिपाही भी शामिल है।
उधर चौकी प्रभारी विश्वनाथ मिश्रा का कहना है कि उन्हे इस मामले की कोई सही ओर सटीक जानकारी नहीं है वो तो दोपहर बाद खाना खाने के लिए चौकी पहुंचे थे। वहां पर युवक को पकड़ कर रखा गया था। जहां पर वह डांस करने लगा लेकिन वो कहीं ना कहीं कुछ अवसाद में लग रहा था इसलिए उसको बिना किसी कार्यवाही के ही छोड़ देना मुनासिब समझा गया।
इस मामले में दिलचस्प बात यह है कि लोग चौकी इंचार्ज पर डांस देखने के आरोप में कार्रवाई होने को गलत करार दे रहे हैं। डांस कर रहे युवक की वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करने वालों में एक शख्स सुशील नागर भी हैं। सुशील नागर ग्राम कचैड़ा के पूर्व प्रधान है। उनसे जब यह बताया गया कि उनके वीडियो के आधार पर इटावा में नया शहर चौकी के इंचार्ज को लाइन हाजिर कर दिया गया है तो उन्होंने पुलिस की इस कार्रवाई को कोरोना काल में उपयुक्त नहीं माना।
प्रधान सुशील नागर ने कहा कि ऐसे समय में जब पुलिसकर्मी सड़कों पर निकलकर देश में महामारी को फैलने से रोकने के लिए दिन-रात संघर्ष कर रहे हैं और अपने घर से दूर रहकर जनता के पहरेदार बने हुए हैं तो ऐसे में उन्होंने अगर पुलिस चौकी में युवक से डांस करा कर थोड़ी देर के लिए खुशी पा ली तो यह उनका कोई गुनाह नहीं है।

सुशील नागर कहते हैं कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वॉरियर्स पर हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा कर आ रहे हैं। ताली और थाली बजवा रहे हैं। तो ऐसे में अगर पुलिसकर्मियों ने चौकी में गाना बजवा और डांस करवा लिया तो इतना बड़ा तो गुनाह नहीं कर दिया। आखिर पुलिस कर्मियों का मन भी तो मनोरंजन करने के लिए होता है। क्या उन्हें नाच गाने देखने और मनोरंजन करने का हक नहीं है?
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc