मजदूरों को कर्ज नहीं कैश की जरुरत साहूकार का काम न करे सरकार, मजदूरों को लेकर राहुल के निशाने पर सरकार



मजदूरों को लेकर राहुल के निशाने पर सरकार 
मजदूरों को कर्ज नहीं कैश की जरुरत साहूकार का काम न करे सरकार




राहुल गांधी ने सरकार के पैकेज पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब बच्चे को चोट लगी हो तो मां उसे कर्ज नहीं देती बल्कि उसके साथ खड़ी रहती है। उन्होंने कहा कि जो प्रवासी रोड पर है उसे कर्ज नहीं पैसे की जरूरत है। किसान को कर्ज नहीं पैसे की जरूरत है।


सरकार को अपने पैकेज को रिस्ट्रक्चर करना चाहिए: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने अलग अलग पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि सरकार को अपने पैकेज को रिस्ट्रक्चर करना चाहिए। उन्होंने आगेस कहा कि पैकेज देना अच्छा कदम है औऱ मैं उसकी आलोचना नहीं कर रहा लेकिन हमें अपने मजदूरों, किसानों के हाथ में पैसे देने होंगे।

हमारी रेटिंग किसान बनाते हैं, मजदूर बनाते हैं, छोटे -बड़े व्यावसायी बनाते हैं: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने अलग अलग पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि हमारी रेटिंग किसान बनाते हैं, मजदूर बनाते हैं, छोटे -बड़े व्यावसायी बनाते हैं। विदेश के बारे में, रेटिंग के बारे में मत सोचिए। उन्होंने आगे कहा कि बताया जा रहा है कि पैसा दिया तो हमारी रेटिंग कम हो जाएगी लेकिन हमें हिन्दुस्तान के दिल की बात सुननी होगी ना कि विदेश की।

कोरोना लॉकडाउन में सड़कों पर तड़प रहे किसान और मजदूरों को कर्ज की नहीं पैसे की जरूरत है: राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना वायरस से जुड़े हालात आप सभी को पता है और कुछ दिन पहले सरकार ने कुछ कदम उठाए। राहुल गांधी ने सरकार के पैकेज पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब बच्चे को चोट लगी हो तो मां उसे कर्ज नहीं देती बल्कि उसके साथ खड़ी रहती है। उन्होंने कहा कि मगर भारत माता को अपने बच्चों के लिए साहूकार का काम नहीं करना चाहिए। जो प्रवासी रोड पर है उसे कर्ज नहीं पैसे की जरूरत है। किसान को कर्ज नहीं पैसे की जरूरत है।




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc