गोविंद सिंह को बीजेपी सांसद शेजवलकर की नसीहत, सिंधिया को मंत्री बनाना या नहीं बनाना PM का अधिकार क्षेत्र




ज्योतिरादित्य सिंधिया को केंद्रीय मंत्री बनाया जाना चाहिए. कांग्रेस के बागी सिंधिया समर्थक राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को ऐसा सार्वजनिक तौर पर कहना महँगा पड़ गया है. इस बात को लेकर बीजेपी सांसद विवेक शेजवलकर ने उन्हें आड़े हाथ लिया है शेजवलकर ने गोविंद सिंह को नसीहत देते हुए कहा है कि गोविंद सिंह को पब्लिकली यह बातें नहीं करनी चाहिए. सिंधिया को मंत्री बनाना या नहीं बनाना PM के अधिकार क्षेत्र का मामला है. 


इधर लॉकडाउन बढ़ाने से शिवराज कैबिनेट का विस्तार एक बार फिर टाल दिया गया. अब संभावना है कि लॉकडाउन खत्म होने या राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान होने के बाद ही कैबिनेट में नए चेहरों को शपथ दिलाई जाएगी. संभावना जताई जा रही थी कि इसी सप्ताह मत्रिमंडल का विस्तार किया जा सकता है. इसे तब और बल मिला, जब एक मई को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की. ऐसा माना जा रहा था कि दोनों के बीच कैबिनेट के विस्तार को लेकर चर्चा हुई थी.

सिंधिया समर्थकों की बैचेनी आने लगी सामने 
जैसे जैसे कैबिनेट विस्तार में देरी हो रही है, कांग्रेस के बागी सिंधिया समर्थकों की बैचेनी सामने आने लगी है. इस बात को इसलिए कहा जा सकता है कि हाल में मंत्री पद की दावेदारी को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक महेंद्र सिंह सिसोदिया, इमरती देवी, रघुराज सिंह कंसाना और एदल सिंह कंसाना ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा से मुलाकात की है. 


शेजवलकर ने दी गोविंद सिंह को नसीहत
वहीं विंध्य के नेता केदार शुक्ला भी बुधवार को सीएम से मिले. सीएम शिवराज से मुलाक़ात के बाद शुक्ला ने मीडिया से कहा कि वे मंत्री बनने को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं. कांग्रेस के बागी सिंधिया समर्थक राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने भी वीडी शर्मा से मुलाकात की है और उन्होंने कहा है कि सिंधिया को केंद्रीय मंत्री बनाया जाना चाहिए. इसके अलावा सार्वजानिक तौर पर यह बात कहने को लेकर बीजेपी सांसद विवेक शेजवलकर ने उन्हें आड़े हाथ लिया है. शेजवलकर ने गोविंद सिंह को नसीहत देते हुए कहा है कि गोविंद सिंह को पब्लिकली यह बातें नहीं करनी चाहिए. सिंधिया को मंत्री बनाना या नहीं बनाना PM के अधिकार क्षेत्र का मामला है. 

फिलहाल पांच मंत्री
शिवराज सरकार में फिलहाल पांच मंत्री हैं. मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण के करीब एक महीने बाद 21 अप्रैल को उन्हें शपथ दिलाई गई थी. उस समय मुख्यमंत्री ने कहा था कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद कैबिनेट का विस्तार होगा, लेकिन लॉकडाउन-3 शुरू हो जाने पर मंत्रिमंडल में नए सदस्यों को शामिल किए जाने को लेकर गहमागहमी तेज हो गई थी.




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc