ममता की अपील पर ममता के साथ अम्फान तूफान से हुई भारी तबाही आसमान से देखेंगे पीएम मोदी




देश अभी कोरोना वायरस जैसी महाचुनौती से जूझ रहा है, लेकिन इस बीच बंगाल की खाड़ी से उठे तूफान अम्फान ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में तबाही मचा दी. पश्चिम बंगाल में इस महातूफान का सबसे अधिक असर देखने को मिला, जिसके बाद तबाही के निशान काफी शहरों में देखे जा सकते हैं. इस आपात स्थिति के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम मोदी से दौरा करने की अपील की थी. ममता की अपील पर प्रधानमन्त्री मोदी ममता के साथ अम्फान तूफान से हुई भारी तबाही आसमान से देखेंगे. हवाई सर्वे के लिए वे दिल्ली से निकल कर कोलकता पहुँच रहे हैं.  

पश्चिम बंगाल में आया ये चक्रवाती तूफान कई दशकों में आई किसी भी चुनौती में सबसे बड़ा है, जिसने राज्य को बहुत तगड़ी चोट पहुंचाई है. चक्रवाती तूफान अम्फान के कारण पश्चिम बंगाल में किस तरह का नुकसान हुआ है और अभी क्या स्थिति है, एक नज़र डालें..



पश्चिम बंगाल में कितना नुकसान?
• राज्य को एक लाख करोड़ रुपये तक के नुकसान का अनुमान.
• पिछले 283 साल में आया सबसे भयावह तूफान, इससे पहले 1737 में आए तूफान में तीन लाख लोगों की मौत हुई थी.
• ममता बनर्जी ने माना कि तूफान ने कोरोना वायरस के संकट से अधिक चोट पहुंचाई है.
• राज्य में 70 से अधिक लोगों की जान चली गई.
• ममता बनर्जी का दावा कि साउथ 24 परगना शहर 99 फीसदी तबाह हो चुका है.

राज्य सरकार के द्वारा क्या एक्शन लिया गया?
• प्रभावित क्षेत्रों से पांच लाख लोगों को निकाला गया.
• अम्फान को लेकर एक कंट्रोल रूम बनाया गया, जिसपर लोग फोन कर अपनी मुश्किल बता सकते हैं.
• चीफ सेक्रेटरी की अगुवाई में 24*7 की एक टास्कफोर्स बनाई गई.
• मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शुक्रवार को राज्य के बड़े अधिकारियों के साथ बैठक करेंगी.
• अगले एक हफ्ते में सभी मंत्री अलग-अलग इलाकों का दौरा करेंगे.
• राज्य सरकार की ओर से राहत कार्य के लिए 1000 करोड़ रुपये का फंड तुरंत बनाया गया.

आम लोगों की किस तरह हो रही मदद?
• सरकार की ओर से तुरंत छोटे रास्तों को साफ किया जा रहा है, ताकि आवाजाही बनी रहे.
• लोगों को पानी, चावल और दाल पहुंचाया जा रहा है. इसके अलावा तिरपाल की व्यवस्था की जा रही है.
• बच्चों के लिए दवाई की व्यवस्था की जा रही है, ताकि कोई बीमारी ना फैले.
• स्कूली बच्चों को किताबें और स्कूल ड्रेस दी जाएंगी.
• शेल्टर होम की सुविधा की जा रही है, ताकि लोगों को राहत मिल सके.
• जिनकी मौत हुई है, उनके परिवारजनों को 2 लाख रुपये का मुआवजा.




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc