प्रवासी मजदूर ने कहा- सर ट्रेन में सुबह से भूखे हैं, IAS एपी सिंह ने कहा- तो कूद जाओ ट्रेन से



पूरा देश आज कोरोना वायरस के कारण लगाये गये लॉकडाउन की परेशानियां झेल रहा है. औऱ सबसे ज्यादा परेशानी झेल रहे हैं वो मजदूर, जो अपने राज्य से दूसरे राज्य में रोजी-रोटी की तलाश में गये हैं. जिस झारखंड सरकार ने हाल में अपने कुछ मजदूरों को फ्लाईट से बुलबाया और सुर्खियाँ बटोरीं आज अब उसी सरकार के एक IAS एपी सिंह से ट्रेन में सफ़र कर रहे प्रवासी मजदूर ने कहा- सर ट्रेन में सुबह से भूखे हैं, तो उसे जबाब मिला वह आश्चर्यजनक है. अधिकारी ने उसे कहा ''..तो कूद जाओ ट्रेन से'' अब अधिकारी का ऑडियो वायरल हो रहा है. 


इस संकट की घड़ी में हर मोर्चे पर, हर वर्ग कुछ न कुछ करने की कोशिश कर रहा है. सरकार और निजी प्रयास से लगातार दूसरे राज्यों में फंसे मजदूर अपने राज्य वापस आ रहे हैं. झारखंड में अभी तक करीब तीन लाख प्रवासी मजदूर वापस आ चुके हैं. ट्रेन, बस, ट्रक, पैदल और न जाने किन तरीकों से प्रवासी मजदूर वापस आ रहे हैं.

झारखंड सरकार की तरफ से प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के लिए एक व्यवस्था बनायी गयी है. इस व्यवस्था को हेड सीनियर आइएएस एपी सिंह कर रहे हैं. सरकार की तरफ से प्रवासी मजदूरों की वापसी के लिए उन्हें झारखंड का नोडल अधिकारी बनाया गया है. वो सीधा सीएस को रिपोर्ट करते हैं.

प्रवासी मजदूरों के बीच हर नोडल अधिकारी का नंबर वायरल है. मुसीबत पड़ने पर वो सीधा अधिकारियों या मीडियावालों से बात करते हैं, लेकिन एक प्रवासी मजदूर की बेबसी पर सीनियर आइएएस एपी सिंह ने कुछ ऐसा कह दिया, जिससे पूरी ब्यूरोक्रेसी सकते में है.


वायेरल ऑडियो 
भूख लगी है तो कूद जाओ ट्रेन से : एपी सिंह



परेशान हाल एक मजदूर ने आइएएस एपी सिंह को फोन किया. उन्हें अपनी परेशानी बतानी चाही. तो आइएएस ने क्या कहा आइये जानते हैं….

प्रवासी मजदूरः हैलो सर, हेलो…हेलो….

एपी सिंहः हेलो…

प्रवासी मजदूरः हेलो सर नमस्कार…

एपी सिंहः नमस्कार

प्रवासी मजदूरः ये फोन एपी सिंह सर के पास लगा है.

एपी सिंहः कौन आप बोल रहे हैं.

प्रवासी मजदूरः हमलोग झारखंड के प्रवासी मजदूर बोल रहे हैं. स्पेशल ट्रेन से वापस आ रहे हैं सर… सुबह से खाना नहीं मिला है…भूख से परेशान हो गये हैं हम लोग.

एपी सिंहः अच्छा…खाना रेलवे को देना है…रेलवे देगा खाना

news by newswing.com



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc