हमारी सरकार खोखले पैकेज वाली नहीं, उद्धव ने कसा केंद्र सरकार पर तंज



महाराष्ट्रः मुख्यमंत्री के लिए ...

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बोले- 'अचानक लॉकडाउन लागू करना गलत था, और अब इसे तुरंत नहीं हटाया जा सकता.'


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज रविवार को जनता को संबोधित करते हुए कहा, केंद्र की टीम ने अनुमान लगाया था कि मई के अंत तक महाराष्ट्र में कोरोना के 1.15 लाख मामले सामने आ सकते हैं, लेकिन आज स्थिति ये है कि राज्य में अब तक 33,786 कोरोना मरीज हैं. उन्होंने कहा, कोरोना के अब तक 47,190 केस रिपोर्ट हुए, जिनमें से 13,000 मरीज ठीक हो चुके हैं.

सीएम ने कहा, आप सभी के सहयोग से ये संभव हुआ है. मैं आपको घर के अंदर रहने और बाहर नहीं जाने के लिए कहता हूं, तो कई बार खुद को तानाशाह महसूस करता हूं. सीएम उद्धव ने कहा, महामारी की चपेट में आने वाले अब तक 1577 लोगों की जान जा चुकी है. वहीं एक 90 साल की महिला ने कोरोना को मात दी. आगे का परिदृश्य चिंताजनक होने वाला है. संक्रमितों की संख्या कई गुणा बढ़ने की आशंका है.

सीएम ने कहा, हम एक बीकेसी या वर्की डोम जैसे फील्ड हॉस्पिटल को बढ़ा रहे हैं. मई के अंत तक हमारे पास कोरोना मरीजों के लिए 13 से 14 हजार बेड उपलब्ध होंगे. हम ऑक्सीजन के साथ बेडों की संख्या को ज्यादा करने की कोशिश कर रहे हैं.


ईद घर में मनाएं: सीएम उद्धव
इस बीच सीएम उद्धव ने ईद की बधाई दी. उन्होंने कहा कि लोग ईद घर में रहकर मनाएं, ऐसी सभी से अपील कर रहा हूं. इसके अलावा सीएम ने कहा, गर्मियों में संक्रमण से दूर रहने में कामयाब रहे. उसी तरह आने वाले बारिश के मौसम मॉनसून में अतिरिक्त सावधानी बरतनी होगी. बारिश का मतलब अधिक संक्रामक रोग, ऐसे में बाहर निकलने से बचें.

पैकेज को लेकर केंद्र पर तंज
सीएम कहा कि कुछ लोग पूछते हैं कि हम पैकेज क्यों नहीं दे रहे हैं, तो मैं बता दूं कि हम ऐसा करेंगे, लेकिन कोरोना से लड़ना अभी हमारी पहली प्राथमिकता है. केंद्र पर तंज कसते हुए सीएम उद्धव ने कहा कि पहले पैकेज दिए गए, जिसका कोई फायदा नहीं हुआ है. हमारी सरकार खोखले पैकेज के साथ नहीं आएगी. हम शिवभोज योजना से अनाज और यहां तक कि भोजन उपलब्ध करा रहे हैं.

सीएम ने कहा, राज्य ने अब तक 481 ट्रेनें भेजी हैं. हमने प्रवासियों से कोई शुल्क नहीं लिया है. शुरुआती भ्रम के बावजूद हमने टिकटों के लिए भुगतान किया. हमारे राज्य परिवहन ने भी सराहनीय काम किया है. 3,80,000 लोगों को अन्य राज्यों से बसों में लाया गया.


उड़ानें शुरू करने से पहले महाराष्ट्र की स्थिति का जायजा लेना होगा
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य में घरेलू उड़ानों की शुरुआत पर कहा कि उन्होंने नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से इस संबंध में बातचीत की है. उद्धव ठाकरे ने केंद्रीय मंत्री से कहा है कि उड़ानें शुरू करने से पहले महाराष्ट्र की स्थिति का जायजा लेना होगा. हम भी हवाई यात्रा की शुरुआत करना चाहते हैं लेकिन किस तरह से यात्री एयरपोर्ट के अदंर दाखिल होंगे, किस तरह से एयरपोर्ट का स्टाफ काम करेगा, इन सब की जांच की जाएगी.

शिक्षा जारी रखने पर विचार
वहीं, सीएम ने कहा कि हम विचार कर रहे हैं कि स्कूलों को कैसे दोबारा शुरू किया जाए. अगर स्कूल बंद भी है तो हम ये सोच रहे हैं कि कैसे शिक्षा जारी रहे. माता-पिता को चिंता करने की जरूरत नहीं, हम उस दिशा में कदम उठा रहे हैं. उन्होंने कहा, हमने उद्योग शुरू किए, श्रमिक काम करने के लिए रिपोर्ट कर रहे, ईजीएस योजना के काम शुरू हो गए हैं. हमने ग्रीन जोन में आने वाले जिले के अंदर बस परिवहन की अनुमति दी है.


ग्रीन जोन में शूटिंग के लिए अपील
सीएम ने कहा, मैंने फिल्म और थिएटर उद्योग के साथ भी एक बैठक की. ग्रीन जोन में शूटिंग की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था. हम शूटिंग और पोस्ट प्रोडक्शन की अनुमति देने के बारे में सोच रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा, हमें अपनी स्वास्थ्य सेवाओं को बढ़ाना होगा, जिसमें टेस्टिंग लैब शामिल है. कोंकण के रत्नागिरी में हम एक नई लैब शुरू कर रहे हैं.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...
सीएम उद्धव ने कहा, ये संकट का समय है. किसी को भी राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए. अगर आप ऐसा करते भी हैं, तो हम नहीं करेंगे. हम ईमानदारी से काम कर रहे हैं. मैं ईमानदारी से इस बात को मानता हूं कि केंद्र हमारी मदद कर रहा है. साथ ही उन्होंने कहा कि संकट के समय राजनीति करना मेरी संस्कृति नहीं है.



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc