आंकड़ों के आईने में, मजाक कर रहे हैं रेलमंत्री पीयूष गोयल


Railway minister Piyush Goyal Said pm modi statement on NRC is the ...

रेलमंत्री पीयूष गोयल का यह कहना कि कोई श्रमिक ट्रेन भटकी नहीं हैं, बल्कि उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड व उड़ीसा के रेलवे ट्रैक में दो दिनों तक ट्रैफिक बहुत होने के कारण श्रमिक गाड़ियों का रूट डायवर्ट किया गया था. जिसे भी भारत के भारी-भरकम रेल यातायात के बारे में बुनियादी बातें पता हैं, उन्हें मंत्री जी का यह बयान मजाक की तरह लगेगा. 
लोकमित्र गौतम 


बजह है साल 2018 में भारतीय रेलवे ने 9.116 अरब लोगों को ढोया था, यानि उस साल इतने लोग 365 दिनों में रेल यात्रा की थी. मतलब 2 करोड़ प्रतिदिन से भी ज्यादा. रेलमंत्री जिन चार राज्यों में ट्रैफिक बहुत हो जाने की बात कर रहे हैं, इस संबंध में सिर्फ यह जान लें कि सामान्य दिनों में 1300 से ज्यादा ट्रेनें अकेले यूपी के अलग अलग हिस्सों से गुजरती हैं, जबकि मंत्री जी ने जिन 4 राज्यों की बात की है, उन चारों से होकर सामान्य दिनों में हर दिन करीब 4200 ट्रेनें गुजरती हैं. 

अब क्या इन आंकड़ों के आईने में यह कहने की जरूरत है कि मंत्री जी मजाक कर रहे हैं?



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc