कश्मीर से आया घोड़ा, जम्मू में किया गया होम क्वारंटीन


Horse is home quarantine for first time in Rajouri district of ...

थानामंडी तहसीलदार अंजुम खटक ने बताया, 'ज्यादातर वेटरनरी एक्सपर्ट्स का मानना है कि घोड़ा कभी भी कोरोनवायरस का वाहक (Corona Carrier) नहीं हो सकता, लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर घोड़े को होम- क्वारंटीन (Home Quarantine) करने का फैसला किया है.



केंद्र शासित प्रदेश जम्मू- कश्मीर में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमितों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है. ऐसे में प्रशासन कोई खतरा नहीं लेना चाहता है. हाल ही में एक शख्स अपने घोड़े के साथ कश्मीर से वापस आया था, जहां राजौरी सेक्टर के जिला अधिकारियों ने उस शख्स को मेडिकल स्क्रीनिंग के लिए भेज दिया.

घोड़े को भी अगले चार हफ्तों के लिए होम क्वारंटीन कर दिया है. यह पहला मामला है जब एक घोड़े को कोरोना की वजह से एहतियातन होम क्वारंटीन किया गया है.

पुष्टि नहीं कि घोड़ा कोरोना से संक्रमित है या नहीं
प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि घोड़ा कश्मीर से आया है. ऐसे में जिला प्रशासन कोई खतरा नहीं लेना चाहता है. हांलाकि इसकी पुष्टि नहीं हुई है कि घोड़ा कोरोना से संक्रमित है या नहीं.

स्क्रीनिंग के बाद 14 दिन के लिए क्वारंटीन
दरअसल मंगलवार की देर शाम एक शख्स अपने घोड़े के साथ मुगल रोड (Mughal Road)  के रास्ते जम्मू राज्य के राजौरी जिले के थानामंडी में स्थित अपने घर की तरफ आ रहा था, लेकिन राजौरी जिला प्रशासन ने इस शख्स को सैंपलिंग और क्वारंटीन के लिए रोक दिया. प्रोटोकॉल्स के तहत राजौरी जिले में पहुंच रहे हर शख्स की स्क्रीनिंग के बाद 14 दिन के लिए क्वारंटीन किया जाता है.



घोड़े कोरोनावायरस के वाहक नहीं
थानामंडी तहसीलदार अंजुम खटक ने वेटरनरी विशेषज्ञों को घोड़े की जांच के लिए बुलाया. उनमें से ज्यादातार वेटरनरी विशेषज्ञों का मानना है कि घोड़े कभी भी कोरोनवायरस (Coronavirus) के वाहक (Carrier) नहीं हो सकते है, लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर घोड़े को होम- क्वारंटीन (Home quarantine) करने का फैसला किया है.

घोड़ा मालिक को प्रशासनिक क्वांरटीन में भेजा
वहीं राजौरी के पुलिस उपायुक्त शेर सिंह ने कहा है कि सभी विशेषज्ञों की सलाह लेने के बाद, घोड़े की थर्मल स्क्रीनिंग की गई. इसके बाद घोड़े को परिवार के अन्य सदस्यों को सौंप दिया गया है. उन्होंने कहा,” पशु की देखभाल करने वाला सभी उपायों को ध्यान में रखें. अगले एक महीने तक दूसरे जानवरों से अलग रखें. एडिशनल कमिश्नर ने बताया कि घोड़े के मालिक को प्रशासनिक क्वारंटीन में भेज दिया गया है.




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc