बेंगलुरु से लौटे मंत्री जीतू पटवारी, कहा 'बागी विधायक कांग्रेस के पक्ष में, सरकार पूरे 5 साल चलेगी'



आज दिन भर ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक विधायकों के बेंगलुरु से लौटने की ख़बरें फैलती रहीं, लेकिन वे नहीं लौटे अलबत्ता बागी विधायकों को मनाने बेंगलुरु गए कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी भोपाल लौट आए हैं और आते ही बड़ा धमाका किया है. उन्होंने मीडियाकर्मियों के साथ बातचीत में दावा किया है कि 'कांग्रेस के सभी बागी विधायक फ्लोर टेस्ट के दौरान पार्टी के पक्ष में ही रहेंगे, बहुमत से ज्यादा बहुमत कांग्रेस के पास है. हमारी सरकार 5 साल तक चलेगी.'


भोपाल लौटने के बाद जीतू पटवारी ने मीडियाकर्मियों के साथ बातचीत में बताया कि बेंगुलुरू में उनके साथ गए एक अन्य विधायक और बागी MLA के पिता के साथ सिर्फ धक्का-मुक्की ही नहीं हुई, बल्कि अभद्रता की गई. जीतू पटवारी ने इसके लिए बीजेपी को निशाने पर लेते हुए कहा कि मुझे, विधायक लाखन सिंह और MLA मनोज चौधरी के पिता को उनके बेटे से नहीं मिलने दिया गया. जीतू पटवारी ने बीजेपी के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा, 'विधायकों को बंधक बनाओ, उनके परिवारवालों से उन्हें मिलने मत दो और पुलिस का दुरुपयोग करो, इस तरह के वीडियो देखने को मिले हैं. यह लोकतंत्र का भ्रष्ट चेहरा है.'

सिंधिया के बीजेपी में जाने से घबराए हैं विधायक
मंत्री जीतू पटवारी ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में जाने से उनके समर्थक विधायक घबराए हुए हैं. पटवारी ने कहा, 'सिंधिया तो बीजेपी में चले गए, अब राज्यसभा में जाकर मंत्री भी बन जाएंगे, लेकिन उनके समर्थक विधायकों के मन में ये डर है कि वे जो चुनाव जीतकर आए हैं, अब उनका राजनीतिक भविष्य क्या होगा? ये सवाल विधायकों के मन में उठ रहे हैं.'


फ्लोर टेस्ट को लेकर दिया ये जवाब
बेंगलुरु से लौटे जीतू पटवारी ने कहा कि कांग्रेस के सभी बागी विधायक भी फ्लोर टेस्ट के दौरान पार्टी के पक्ष में ही रहेंगे. बीजेपी नेताओं के कमलनाथ सरकार के अल्पमत में आने के आरोपों को लेकर उन्होंने कहा, 'बेंगलुरु जाने वाले विधायक बिके नहीं हैं. वे हमारे परिवार के सदस्य हैं. कांग्रेस के साथ आएंगे. अभी जब फ्लोर टेस्ट होगा, तब पता चलेगा कि बहुमत से ज्यादा बहुमत कांग्रेस के पास है. हमारी सरकार 5 साल तक चलेगी.'

विधायक के पिता बोले- बेटे से नहीं मिलने दिया
जीतू पटवारी के साथ ही बेंगलुरु से लौटे विधायक लाखन सिंह और MLA मनोज चौधरी के पिता नारायण चौधरी ने भी मीडिया के सवालों के जवाब दिए. बेंगलुरु में विधायकों को रखे जाने के सवाल पर लाखन सिंह ने आरोप लगाया कि विधायकों को बंधक बनाकर रखा गया है. वहीं, MLA मनोज चौधरी के पिता नारायण चौधरी ने कहा कि उन्हें बेटे से बात तक नहीं करने दी गई.



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc