मिलिए 'डायमंड ऑफ़ इंडिया 'Gauri Mishra से



उत्तराखंड के हल्द्वानी से एक ऐसी युवती जो देश का नाम रोशन करने निकली है । वह अपनी काव्य शैली के जरिए कभी दार्जलिंग में कारगिल के सैनिकों को देशभक्ति का पाठ पढाती है तो कभी नैनीताल के हल्द्वानी जेल में बंद कैदियों को उनका भविष्य सुधारने का संदेश देती हैं। कतर जैसे दूसरे देशों में राष्टगान से शुरुआत करके अपने काव्य पाठ पर वाहवाही बटोरती वाली गौरी आज देश की युवा आवाज बन चुकी हैं । 'दैनिक जागरण ' के काव्य पाठ कार्यक्रम गौरी के बिना अधूरे माने जाते है। 
- आकाश नागर 



महानकवि महादेवी वर्मा को अपना आदर्श मानने वाली गौरी को आज एक ऐसे गुरु की जरुरत है जो उसकी आवाज को फलक तक ले जाए । अवार्ड की बात करे तो पाँच साल के काव्य मंचन में गौरी 2015 में नारी शक्ति अवार्ड, डायमॅड आॅफ इंडिया, रत्न हिंदुस्तान पुरस्कार 2016 में आर्का आॅफ एक्सीलेंस तथा 2018 में नेशनल यूथ आॅईकान अवार्ड अपने नाम कर चुकी हैं । 

गौरी को 'बिग बाॅस' से भी आमंत्रण आ चुका है । लेकिन जोडी न मिलने के कारण गौरी इस लोकप्रिय टीवी शो में एंट्री नही कर सकी । यू ट्यूब पर सबसे ज्यादा सर्च किए जाने वाली देवभूमि की इस उभरती हुई प्रतिभा को उज्जव भविष्य की कामना के साथ हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं..




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc