जांच कर रहे पटवारी से क्यों चिपक गई कोरोना संदिग्ध लड़की





* कोरोना ड्यूटी कर रहे पटवारी और निगरानी दल को संदेही युवती ने किया संक्रमित करने का प्रयास 
* निगरानी दल ने युवती पर धारा 188 के तहत कार्यवाही की मांग की

आज भोपाल में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना एक पटवारी और निगरानी दल के साथ घटित हुई, जिसमें कोरोना संदेही युवती ने दल के साथ झूमाझटकी कर पटवारी की नेम प्लेट तोड दी और पटवारी को संक्रमित करने की नियत से वह पटवारी से लिपट गई। अपर कलेक्टर भोपाल द्वारा द्वारा चिकित्सा सहायकों, वार्ड प्रभारियों के साथ पटवारियों की ड्यूटी विभिन्न वार्डों में संदिग्ध लोगों की जानकारी एकत्रित करने में लगाई गई है।





अपर कलेक्टर भोपाल द्वारा द्वारा चिकित्सा सहायकों, वार्ड प्रभारियों के साथ पटवारियों की ड्यूटी विभिन्न वार्डों में संदिग्ध लोगों की जानकारी एकत्रित करने में लगाई गई है. पटवारी इस प्रकार से कार्य करते हुए संदिग्ध के दरवाजे पर कोविड 19 (Do Not Visit) डू नॉट विजिट का पर्चा लगा रहे हैं ...

प्राप्त जानकारी के भोपाल के वार्ड 70 पंजाबी बाग में उक्त निगरानी दल जिसमें नवीन पटवारी सुरेंद्र प्रताप सिंह यादव जो गोविंदपुरा तहसील में पदस्थ हैं के साथ वार्ड प्रभारी एहसान अली एवं लिपिक तारिक अली द्वारा कोरोना संदेही व्यक्तियों की जांच का कार्य किया जा रहा था । तब स्टर्लिंग शालीमार स्थित संदिग्ध युवती जो 11/303 विराज शालीमार स्टर्लिंग गोविंदपुरा में रहती हैं के घर पर कोविड 19 (Do Not Visit) डू नॉट विजिट पर्चा लगाने के दौरान संदिग्ध लड़की व उसके परिजन द्वारा बदतमीजी से बातचीत कर पटवारी और दल को फोटो खींचने से मना करते हुए कार्य में बाधा डाली गई। इसके साथ ही मरीज जो कि संदिग्ध है वह आकर पटवारी को संक्रमित करने की नियत से लिपट गई और पटवारी की नेमप्लेट तोड़ दी जिससे निगरानी दल वहां से अपनी जान बचाकर भागा।



निगरानी दल द्वारा उक्त घटना की जानकारी वहां पर आसपास मौजूद निवासियों को दी गई और उक्त घटनाक्रम का एक पंचनामा तैयार कर संबंधित के खिलाफ धारा 188 की कार्यवाही करने का प्रतिवेदन तहसीलदार को दिया है। यह घटना विचलित करने वाली है । एक और तो शासकीय कर्मचारी संसाधनों के अभाव में देश सेवा, जनता की सेवा करते हुए अपनी ड्यूटी कर रहे हैं और जान माल की रक्षा में अपने स्वयं और अपने परिवार की जिंदगी दांव पर लगाकर काम कर रहे हैं । ऐसे में संदेही व्यक्तियों और उनके परिजनों द्वारा सहयोग ना दिया जाकर उक्त प्रकार का कृत्य किया जाना बहुत ही घटिया कृत्य है।





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc