जनकवि डा डी एम मिश्र का हुआ सम्मान




वाराणसी की गौरवशाली साहित्यिक संस्था " साहित्यिक संघ, वाराणसी " के 28 वें वार्षिक अधिवेशन के अवसर पर वरिष्ठ कवि एवं ग़ज़लकार डा डी एम मिश्र को आदर्श सेवा इंटर कालेज, वाराणसी के सभागार में आयोजित एक भव्य समारोह में " सेवक साहित्य श्री सम्मान -2019" से नवाजा गया। उन्हें यह सम्मान प्रोफेसर गिरीश्वर मिश्र, पूर्व कुलपति म0गाँ0अ विश्वविद्यालय वर्धा के कुलपति के कर कमलों द्वारा प्रदान किया गया। इस अवसर पर डा डी एम मिश्र की रचनाशीलता पर प्रकाश डालते हुए वाराणसी से निकलने वाली बहुचर्चित मासिक साहित्यिक पत्रिका " सोच विचार " के प्रधान सम्पादक डा जितेन्द्र नाथ मिश्र ने कहा कि -डा डी एम मिश्र ने ग़ज़ल की दुनिया में उत्कृष्ट कार्य किया है। उनके 10 कविता एवं ग़ज़ल संग्रह प्रकाशित हुए हैं। इसी वर्ष प्रकाशित उनका नया ग़ज़ल संग्रह "वो पता ढूँढें हमारा" बहुत कम समय में बहुत लोकप्रिय हुआ है। जिसके लिए यह संस्था उन्हें सम्मानित कर रही है।
इस अवसर पर सोच विचार पत्रिका के संपादक नरेन्द्र नाथ मिश्र, सहायक संपादक वासुदेव उबेराय, कवि अभिनव अरुण, भोपाल से डा सुमन चौरे, चन्द्रभान राही, मुजफ्फरपुर से डा अंजना वर्मा, रायपुर से डा गिरीश पंकज, इन्दौर से डा अश्विनी कुमार दुबे, गाजीपुर से डा रामबदन राय, बरेली से डा सुरेश बाबू मिश्र जैसी नामचीन साहित्यिक हस्तियाँ भी कार्यक्रम में मौजूद थीं। इसके बाद देर रात तक कवि सम्मेलन का दौर चला।



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc