मंत्री जी खाना खाते रहे, विधायक को पानी तक को नहीं पूछा


कांग्रेस सरकार के कुछ मंत्रियों ने प्रदेश की कमलनाथ सरकार का समर्थन कर रहे छतरपुर जिले के बिजावर विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के विधायक राजेश शुक्ला को अपमानित कर कांग्रेस सरकार के सामने संकट खड़ा कर दिया है. 

जो बेइज्जती हुई है, उसे भूल नहीं सकते
हाल में वन मंत्री उमंग सिंघार के बंगले पर अपमानित होने पर समाजवादी पार्टी के विधायक राजेश शुक्ला ने अपनी नाराजगी मीडिया के सामने व्यक्त की. उन्होंने कहा कि मंत्रियों के बंगले पर उन्हें बेइज्जत होना पड़ रहा है. राजेश ने कहा कि वे दो दिन पहले वन मंत्री उमंग सिंघार के बंगले पर मिलने गए थे. यहां उनकी जो बेइज्जती हुई है. वह उसे भूल नहीं सकते.

राजेश शुक्ला ने कहा कि जब वे वनमंत्री के बंगले पर उनसे मिलने पहुंचे तो उन्हें बताया गया कि मंत्रीजी खाना खा रहे हैं. उनसे लॉन में बैठने को कहा गया. वे डेढ़ घंटे तक मंत्रीजी का इंतजार करते रहे, लेकिन मंत्रीजी बाहर ही नहीं आए.

अब मंत्रीजी से मिलने पांच साल तक नहीं जाउंगा 
इस दौरान उनके बंगले के स्टॉफ ने जरा भी शिष्टाचार नहीं निभाया. वे पूरे समय लॉन में बैठे रहे और उस दौरान उनसे चाय तो दूर की बात है, किसी ने पानी के लिए भी नहीं पूछा. इसके बाद मंत्री के पीए के हाथ जोड़कर आ गए, और मंत्री के पीए से कहा कि अब वे मंत्रीजी से मिलने पांच साल तक नहीं आएंगे. 

मैं एक पटवारी तक का ट्रांसफर नहीं करा पाया 
विधायक ने कहा, 'सात महीने हो गए हैं, सरकार में हमारी नहीं सुनी जा रही है. जनता के काम नहीं हो रहे हैं. हम किस मुंह से अपने क्षेत्र में जनता के बीच जाएं.' उन्होंने यहां तक कहा कि आज तक मैं एक पटवारी तक का ट्रांसफर नहीं करा पाया हूं. कलेक्टर और सरकार के मंत्री हमारी सुनाना तो दूर की बात है फोन तक नहीं उठाते.

राजेश शुक्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ जरूर हमारी बात सुनते हैं, लेकिन हर काम के लिए मुख्यमंत्री से मिलने और उनसे कहा नहीं जा सकता. उनके साथ सरकार के मंत्रियों का ऐसा व्यवहार होगा उन्होंने ऐसा सोचा नहीं था. इस बारे में वे मुख्यमंत्री से चर्चा करेंगे.

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc