कोई है जो मारना चाहता है बालकृष्ण को?

Image may contain: 2 people, beard

योग गुरु स्‍वामी रामदेव ने कहा है कि पेड़ा खाने की वजह से पतंजलि आयुर्वेद के एमडी आचार्य बालकृष्‍ण की तबीयत खराब हुई थी, लेकिन उन्होने यह नहीं बताया कि पेड़ा लाने और खिलाने वाला व्यक्ति है कौन? साथ ही CRPF की हाई सिक्योरिटी से बिना चैकिंग किए हुए वह व्यक्ति बालकृष्ण तक कैसे पहुँच गया और उसने उन्हें पेड़े कैसे खिला दिए? आखिर कौन है वो जो मारना चाहता है बालकृष्ण को?



आकाश नागर  

योग गुरु स्‍वामी रामदेव ने कहा है कि पेड़ा खाने की वजह से पतंजलि आयुर्वेद के एमडी आचार्य बालकृष्‍ण की तबीयत खराब हुई थी और अब उनकी हालत धीरे-धीरे सामान्‍य हो रही है। उन्‍होंने कहा कि जन्‍माष्‍टमी के अवसर पर एक व्‍यक्ति पेड़ा लेकर आया था और आचार्य बालकृष्‍ण ने उसे खा लिया। पेड़ा खाने के 15 मिनट बाद आचार्य बालकृष्‍ण कुछ घंटों के लिए बेहोश हो गए। रामदेव ने बताया कि उन्‍होंने आचार्य बालकृष्‍ण से बात की है और उन पर अभी फूड पॉयजनिंग का थोड़ा असर है।

रामदेव ने यह सब कुछ तो बता दिया लेकिन उन्होने यह नहीं बताया कि पेड़ा लाने और खिलाने वाला व्यक्ति है कौन?

दुसरा सवाल यह कि बालकृष्ण की CRPF की सिक्योरिटी से बिना चैकिंग किए हुए वह व्यक्ति बालकृष्ण तक कैसे पहुँच गया और उसने उन्हें पैडे कैसे खिला दिए?

तीसरा सवाल बालकृष्ण के आफिस और पतंजलि में हर जगह CCTV कैमरे मौजूद है तो क्या जहरीले पैडे खिलाने वाले व्यक्ति की फुटेज कैमरो में नही आई है या जानबूझकर व्यक्ति के नाम को छुपाया जा रहा है ?

स्वाभाविक है कि उपरोक्त तीनों सवालो के जवाब एक ही है और वह यह है कि बालकृष्ण को जहरीला पेड़ा खिलाने वाला कोई उनका अपना करीबी है, जिसकी पहचान उजागर नहीं की जा रही है।

अब सवाल उठता है कि आखिर क्यों ?
क्योंकि बालकृष्ण पतंजलि योग संस्थान का ना केवल महामंत्री है, बल्कि 12000 करोड टर्न ओवर वाली इस कंपनी का CEO भी है। जिसको रास्ते से हटाने के लिए जहरीला पेड़ा खिलाने की साजिश की गयी है ।

याद रहे कि इससे पहले भी ऐसी ही साजिश बाबा करमवीर, गुरु शंकर देव और राजीव दीक्षित के साथ की जा चुकी है। इनमें से बाबा करमवीर की किस्मत अच्छी थी कि वह बच गए। लेकिन काल के क्रूर हाथो से गुरु शंकर देव और राजीव दीक्षित बच नही सके। दोनों की मौत एक रहस्यमय कहानी बन कर रह गयी। बावजूद इसके कि गुरु शंकर देव की तो CBI जाँच तक हो चुकी है।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc