क्या आपको भी रहता है तलवे में दर्द


Image may contain: one or more people, shoes and close-up
तलवे के दर्द को कभी भी हल्के में नहीं लेना चाहिए। इसका कारण न्यूरोपैथी नामक वीमारी भी हो सकती है, जिसमें कई तरह के टेस्ट करने पड़ते हैं। पता चलने पर विशेषज्ञ इलाज करते हैं। वैसे ज्यादातर तलवे में दर्द का कारण मधुमेह होता है। अधिकाँश लोग इसे हलके में ले लेते हैं, जो कि नहीं लेना चाहिए। 


डाक्टर को जब पता चलता है कि व्यक्ति विशेष को मधुमेह की बीमारी है तो सबसे पहले वह मधुमेह का इलाज करता है। मधुमेह के इलाज से भी आराम न होने पर वह दूसरे टेस्ट कराता है। जिन लोगों के थाॅयरायॅड का स्तर बहुत कम होता है , उनके भी तलवे में दर्द हो सकता है। विटामिन बी -12 , फोलिक एसिड और कैल्शियम की कमी भी तलवे के दर्द का कारण हो सकता है। यह जानने के लिए खून की जांच करानी पड़ती है। कई बार उच्च रक्तचाप के कारण भी यह बीमारी हो जाती है ।




तलवे में दर्द के कुछ घरेलू उपचार भी हैं -
1) एक गिलास गर्म पानी में दो बड़े चम्मच कच्चा व अनफिल्टर्ड सिरका मिलाकर पीने से आराम मिलता है ।
2) आधा टब गुनगुने पानी में आधा कप सेंधा नमक मिलाकर उसमें आधा घण्टे तक पैर डालें ।
3) तलवे में सरसों तेल की मालिश आधे घंटे तक की जाय ।
4) लौकी का गूदा तलवे में मालिश करने पर भी इस रोग से मुक्ति मिलती है ।
5) स्पंज वाले जूते पहनने पर पैरों को कुशन इफेक्ट मिलता है, जिससे तलवे के दर्द से राहत मिलती है ।
6) करैले के पत्तों के रस तलवे में लगाने से भी आराम मिलता है ।
7) रात को सोते समय एक गिलास हल्दी मिला दूध पीना चाहिए ।
यदि आपको उच्च रक्तचाप , मधुमेह , दिल और न्यूरोपैथी की बीमारी हो तो उपरोक्त खरबिरवा इलाज के अतिरिक्त आपको डाक्टर की भी शरण का अनुसरण करना पड़ सकता है ।

प्रस्तुति : एस डी ओझा   



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc