हार के डर से शिवराज भी भाग रहे दिग्विजय से?





उमा जी के वॉक ओवर देने से दिग्विजय सिंह जी की राह का बड़ा कांटा निकला

भोपाल में दिग्विजय सिंह ने अपनी पकड़ मजबूत कर ली है. और क्या हार के डर से शिवराज भी भाग रहे दिग्विजय से? कुछ ऐसा ही संकेत दे रही हैं BJP की फायर ब्रांड नेता उमा भारती..



आलोक बाजपेयी


''अलबत्ता उमा जी ने यह पत्र लिखकर पार्टी को जता दिया है कि एक बार पार्टी ने उन्हें ध्वज यात्रा के नाम पर मूर्ख बनाकर तीन चौथाई बहुमत वाली सीएम की कुर्सी से हटा दिया था, लेकिन अब वे उतनी भोली नहीं हैं. और उनका तरीका आडवाणी जी - जोशी जी की तरह चुप बैठने का तो कतई नहीं है.''

सुश्री उमा भारती ने भोपाल से चुनाव लड़ने से मना करने के लिए पत्र लिखने, ट्वीट और पत्रकारों से बातचीत यानी सभी संभव माध्यमों का इस्तेमाल किया ताकि पार्टी आलाकमान के पास उन्हें भोपाल से चुनाव लड़ाने का कोई स्कोप ही ना रहे. मार्के की बात ये हैं कि उमाजी ने अपना पत्र एकदम खांटी मंजे हुए राजनीतिज्ञ की शैली में लिखा है. 

अपने पुराने प्रतिद्वंदी और लगभग 13 साल तक उन्हें प्रदेश की राजनीति से दूर रखने वाले शिवराज मामा को चुनौती देने और उसके प्रति नाराज़गी का व्यंग्यात्मक भाव भी पंक्तियों के बीच पढ़ा जा सकता है. अलबत्ता उमा जी ने यह पत्र लिखकर पार्टी को जता दिया है कि एक बार पार्टी ने उन्हें ध्वज यात्रा के नाम पर मूर्ख बनाकर तीन चौथाई बहुमत वाली सीएम की कुर्सी से हटा दिया था, लेकिन अब वे उतनी भोली नहीं हैं. और उनका तरीका आडवाणी जी - जोशी जी की तरह चुप बैठने का तो कतई नहीं है. 


शिवराज जी और पार्टी ने अपना काम निकलने के बाद उन्हें मध्यप्रदेश में चुनाव तक ना लड़ने दिया था, बल्कि उत्तरप्रदेश में झांसी से चुनाव लड़ने को मजबूर किया था तो अब वे भी इस प्रतिष्ठापूर्ण मुकाबले में पार्टी के आदेश पर होम होने को राजी नहीं. शिवराज जी ने सत्ता की मलाई खाई है तो दिग्विजय सिंह से मुकाबला वही करें. 

उमा जी के वॉक ओवर देने से दिग्विजय सिंह जी की राह का बड़ा कांटा निकला है और मोदी - शाह को भी संदेश मिला है कि अभी भी पार्टी में लोग आपको 'ना' कहने की हिम्मत और चालाकी दोनों रखते हैं. 

अब आप शिवराज जी को चुनाव लड़वाओ या पूरा वॉक ओवर जैसा दे दो. दोनों सूरतों में उमाजी अपने राजनैतिक दांव के कारण फायदे में रहेंगी. अलबत्ता दिग्विजय सिंह जी को 15 साल पुराने हिसाब की एक किश्त आज मिलने की बधाई हो...




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc