कांग्रेस ने बताया 'नोटबंदी के दौरान नोट बदलने का काम कर रहे थे बीजेपी कार्यकर्ता', बीजेपी ने बताया 'चुनावी साजिश', करेगी कानूनी कार्यवाही


''कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार पर निशाना साधते हुए बताया कि नोटबंदी के दौरान भारतीय जनता पार्टी को फायदा हुआ है. पार्टी को फायदा पहुंचाने के लिए नोटबंदी की गयी. अब हम सबूत लेकर आये हैं. कांग्रेस द्वारा जारी किये गये वीडियो क्लिप के बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है भाजपा कानूनी सलाह ले रही है... भाजपा को बदनाम के लिए जो संस्थान और लोग इस साजिश में शामिल हैं, हम उन्हें अदालत लेकर जाएंगे. ''

एक दिन पहले कांग्रेस ने एक वीडियो रिलीज की थी, जिसमें एक भाजपा नेता को 40 प्रतिशत के कमीशन पर नोटबंदी के बाद पुराने नोट बदलते हुए कथित रूप से दिखाया गया है. इस पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, भाजपा कानूनी सलाह ले रही है... भाजपा को बदनाम के लिए जो संस्थान और लोग इस साजिश में शामिल हैं, हम उन्हें अदालत लेकर जाएंगे. हम उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे. हम इसे ऐसे नहीं जाने देंगे.''

वीडियो जारी करने वाली वेबसाइट 'टीएनएन वल्डर' की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि पोर्टल ने जनवरी में लंदन में ईवीएम पर कपिल सिब्बल के संबोधन का प्रसारण किया था. वेबसाइट दिसंबर 2018 में पंजीकृत हुई थी और इसके पास एक साल का लाइसेंस है.  उन्होंने कहा, हो सकता है कि कांग्रेस की योजना इसे चुनावों के बाद बंद करने की हो. पार्टी साजिश वाला चुनाव अभियान चला रही है. मैं मीडिया की आभारी हूं कि उन्होंने उन्हें एक मिनट से ज्यादा समय नहीं दिया. 

यह है मामला    
एक दिन पहले कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार पर निशाना साधते हुए बताया कि नोटबंदी के दौरान भारतीय जनता पार्टी को फायदा हुआ है. पार्टी को फायदा पहुंचाने के लिए नोटबंदी की गयी. हमें यह आशंका थी लेकिन हमारे पास कोई सबूत नहीं था. अब हम आपके लिए सबूत लेकर आये हैं. कपिल सिब्बल ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक वीडियो क्लिप के माध्यम से सरकार पर निशाना साधा. कपिल सिब्बल ने कहा, हमारे पास सबूत है कि गरीबों को लूटा गया और पार्टी को फायदा हुआ.

उन्होंने नोटबंदी के दौरान भाजपा के कार्यकर्ता शामिल थे, यह साबित करने के लिए एक वीडियो क्लिप प्ले कर दिखाया जिसमें बताया गया कि किस तरह भाजपा के कार्यकर्ता नोटबंदी के दौरान नोट बदलने के लिए काम कर रहे थे. इस क्लिप में गुजरात गांधीनगर के पार्टी दफ्तर में डील का दावा किया गया है. यह पूरा टेप 31 मिनट का है लेकिन कांग्रेस ने सिर्फ 18 मिनट के वीडियो का जिक्र किया, जिसमें भाजपा के कार्यकर्ता का जिक्र है. कांग्रेस द्वारा जारी किये गये इस वीडियो क्लिप में कार्यकर्ता की बातों को भी सुनाया गया, जिसमें कहा गया है कि हम आपका काम कर देंगे. कांग्रेस ने इस वीडियो के जरिये दावा किया कि पैसा 31 दिसंबर 2016 के बाद बदला गया. 

नोट - डिजिटल इंडिया 18 उक्त वीडियो की पुष्टि नहीं करता. 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc