मोदी का 'मिशन शक्ति' पर भाषण आचार संहिता का उल्लंघन है या नहीं, चुनाव आयोग ने बैठाई जांच


''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से उपग्रह भेदी मिसाइल के सफल इस्तेमाल की जानकारी देने के लिये बुधवार को राष्ट्र के नाम का संबोधन चुनाव आचार संहिता(Election Commission) के उल्लंघन के दायरे में है या नहीं? इस पर चुनाव आयोग ने जांच बैठाई है. ''

आयोग की ओर से देर शाम जारी बयान के अनुसार, इस मामले में एक समिति का गठन किया गया है. आयोग ने वैज्ञानिकों की इस उपलब्धि का राजनीतिक इस्तेमाल कर चुनावी लाभ लेने के लिये प्रधानमंत्री द्वारा देश को संबोधित करने की विभिन्न दलों की शिकायत मिलने के बाद इसकी जांच के लिये समिति का गठन किया है. 

आयोग ने कहा प्रधानमंत्री द्वारा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से देश को संबोधित करने का मामला आयोग के संज्ञान में लाया गया है. आयोग ने चुनाव आचार संहिता लागू होने के बीच अधिकारियों की समिति गठित कर तत्काल इस तामले की जांच करने का निर्देश दिया. 

उल्लेखनीय है कि माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर कहा कि चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री ने वैज्ञानिकों की उपलब्धि का राजनीतिक लाभ लेने के लिये देश को संबोधित किया और यह आचार संहिता का उल्लंघन है. येचुरी ने आयोग से यह भी पूछा कि क्या प्रधानमंत्री ने आयोग से अनुमति लेकर देश को संबोधित किया.

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a comment

abc abc