मुजफ्फरपुर बालिका कांड में फंसे नीतीश, कोर्ट ने CM के खिलाफ दिए जांच के आदेश


''बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न केस से जुड़े एक मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी पूछताछ हो सकती है. विशेष पॉक्सो कोर्ट ने गिरफ्तार एक आरोपी अश्विनी की याचिका पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और दो आला अफसरों के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं. कोर्ट ने डॉक्टर अश्विनी की अर्जी पर कहा कि बच्चियों के शोषण के मामले में मुख्यमंत्री और अफसरों की भूमिका की जांच होनी चाहिए.'' 

डॉक्टर अश्विनी की ओर से लगाई याचिका पर कोर्ट ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ दो आला अफसर प्रधान सचिव (समाज कल्याण) अतुल प्रसाद और तत्कालीन जिलाधिकारी धर्मेंद्र सिंह के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए हैं. अदालत ने सीबीआई एसपी (पटना) को इसकी जिम्मेदारी सौंपी है.

डॉक्टर अश्विनी की ओर से लगाई याचिका में बताया गया है कि बालिका गृह में बच्चियों के शोषण से पहले उन्हें नशीला इंजेक्शन दिया जाता था. आरोपी ने याचिका में कहा है कि 2013 से ही शेल्टर होम को नियमित भुगतान किया जाता रहा था. मिलीभगत और प्रशासनिक शह के बगैर शेल्टर होम में शोषण की घटना संभव नहीं थी. याचिका में मांग की गई थी कि बालिका गृह के संचालन में सीएम नीतीश कुमार, समाज कल्याण प्रधान सचिव अतुल प्रसाद और तत्कालीन डीएम धर्मेंद्र सिंह की भूमिका की जांच की जाए.



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc