पटवारी ने लिखी सोशल मीडिया पर अपनी पीड़ा,..ताकि भविष्य में कोई पटवारी हेराफेरी का अपराध ना करे


''अपराधी सब मैनेज कर लेते हैं, अधिकारी अपने ही कर्मचारियों की सही बात नहीं सुनते, तब यह स्थिति बनती है. आज एक पटवारी को अपनी बात रखने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेना पड़ा है.'' 

पटवारी उदयलाल ने अपनी बात सोशल मीडिया पर शेयर इस प्रकार की है- 

नीमच जिले की मनासा तहसील के ढोढर ब्लाक गॉव की शासकीय भूमि सर्वे न. 69 जो एक हेक्टर भूमि में से एक पटवारी द्वारा वर्ष 2005-06 में हेरा-फेरी करते हुए तीन बीघा भूमि को भू-माफिया के नाम पर लिख दिया. इसकी लिखित रिपोर्ट मय प्रमाणित दस्तावेजों के 29 अक्टूबर 2017 को sdm वंदना मेहरा के समक्ष पेश की गयी, जिस पर आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गयी. हाँ, कार्यवाही के नाम पर दोषी पटवारी को बचाने के लिये पूरा प्रशासन लग गया है तथा जिसने ये शिकायत की उसे अधिकारियों द्वारा परेशान किया जा रहा है. 

यही नहीं इस पटवारी द्वारा कुकडेश्वर कस्बे पर रहकर कई शासकीय जमीनों को भू-माफियाओं के नाम करके करोड़ों की शासकीय भूमि बेंच दी गयी है. इस सब में बड़े अधिकारियों की मिली भगत के बिना ये संभव नहीं हो पाता. मैं माननीय कलेक्टर महोदय से निवेदन करता हूँ कि सभी दोषियों पर शीघ्र कार्यवायी कर उन्हें जेल भेजें, ताकि भविष्य में कोई पटवारी हेराफेरी का अपराध ना करे..



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc